आखिर क्यों अभी तक कुंवारे हैं “रतन टाटा” इतना बड़ा सच आया सब के सामने…..

भारत देश में हर एक व्यक्ति रतन टाटा के बारे में तो अवश्य ही जानता होगा वहां भारत के सबसे बड़े बिजनेस में से एक हैं और लोग उन्हें फॉलो करते हैं और उनके जैसा बनना चाहते हैं वह अपने जीवन में सफल रहती है कि लोगों के साथ एक पल बिताने के लिए करोड़ों रुपए देने के लिए तैयार हैं लेकिन उनके पास समय की कमी और वह हर क्षेत्र में अपने बिजनेस को बढ़ाते हैं और हर वर्ग में उनका नाम चलता है सभी के मन में आता है आखिर क्या वजह है और क्यों नहीं उन्होंने अपने जीवन में आपको हम बता देते हैं कि यह दुनिया की पूरी टाटा साथ में जीत ली है कंपनी ने सरकारी एयरलाइंस के लिए सबसे अधिक अट्ठारह सौ करोड़ रुपए की बोली लगाई और इसे अपने नाम किया रतन टाटा ने 68 साल बाद फिर से टाटा समूह के पास लौट आई है और जिनके लिए रतन टाटा ने काफी खुशी जताई थी।

आपकी जानकारी के लिए हम आप सभी को बता देते हैं कि समूह के मानद चेयरमैन रतन टाटा ने कई बार अपनी निजी जिंदगी और इस कहानी को लेकर बात की और उन्होंने कई बार कई ऐसे राज खोले हैं जिनके बारे में किसी को नहीं पता था टाटा संस के 2 वर्षीय एथलीट चेयरमैन रतन टाटा कंपनी में काम करने के दौरान लॉस एंजलिस में प्यार हो गया था लेकिन सन 1962 के दौरान भारत चीन के युद्ध में तनाव बढ़ता जा रहा है रोक दी गई थी और उसके बाद से उन्होंने कुछ नहीं बताया उनका बचपन का पूछा था लेकिन माता-पिता की तलाक की वजह से उन्हें और उनके भाई को थोड़ी बहुत परेशानी का सामना करना पड़ा था लेकिन उन्होंने अपने जीवन में कभी हार नहीं मानी और हमेशा रहेगी पूरे भारत और विदेश में उनके चर्चे हैं।

+