आश्रम के बाहर पड़ी हुई मिली केवल ढाई माह की छोटी सी बच्ची पास रखी थी दूध की बोतल………..

कभी कबार हर एक व्यक्ति के जीवन में कुछ ऐसे मंजर आंखों के सामने आ जाते हैं जिसकी बा कभी कल्पना भी नहीं कर सकता आज हम आप सभी लोगों को एक ऐसी ही कहानी सुनाने वाले हैं जिसे सुनने के बाद शायद आपकी भी पसीने छूट जाए और आप की भी आंखें नम हो जाए क्योंकि यह कहानी कुछ ऐसी है और यह सच्ची घटना है जो कुछ ही दिन पहले घटित हुई है जिसकी आजकल सोशल मीडिया पर भी काफी निंदा करी जा रही है और लोग इसका डटकर विरोध कर रहे हैं कि ऐसे 30 बिल्कुल भी नहीं आने चाहिए इस दुनिया में और इस घटना को देखने के बाद ऐसा प्रतीत हो रहा है कि धीरे-धीरे समाज से इंसान ने तो गायब होती जा रही है जिसके कारण घटनाओं को देखना पड़ रहा है। अभी कुछ ही दिन पहले की बात है कि केवल ढाई माह की छोटी सी बच्ची अनाथ आश्रम के पास पड़ी हुई मिली। जिसके बाद सभी को सूचित किया गया और इस वक्त उसकी देखभाल करी जा रही है।

ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि पारिवारिक क्लेश और पति पत्नी के बीच अनबन के कारण ऐसा कार्य किया जा सकता है और पुलिस पूरी प्रयास में लगी है आरोपी को ढूंढने के और सान्तवना है लोगों को कि कुछ ही दिनों बाद उन्हें आरोपी मिल जाएंगेबाल कल्याण समिति के अधिकारी सीता इन दीवान ने बताया कि गांव के लोगों ने सामाजिक कार्यकर्ताओं एवं पुलिस की सहायता से बच्ची के परिवार के बारे में जानकारी कट्ठा करने का प्रयास किया लेकिन वह सफल नहीं हो पाए जिसके चलते अब उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है और अल्पना जी ने आगे बताया कि प्रत्येक जिले में प्रदेश की सरकार की तरफ से सीबीआई का गठन किया गया है जिसकी देखरेख में सभी कार्य हो रहा है जिसकी कोई भी व्यक्ति अपने बच्चों को सरकार को कानूनी प्रक्रिया कर सकता है और ऐसा हुआ नहीं पाया जाता तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा सकती है।

+