इस वर्ष यूपीएससी के टॉपर शुभम कुमार के पिता हो गए थे जब ड्यूटी पर पता चला बेटा बन गया है टॉपर……….

भारत देश में सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक परीक्षा है यूपीएससी जिसमें हर वर्ष करीब करोड़ों बच्चे हर लेते हैं लेकिन उनमें से केवल कुछ ही बच्चों को सफलता मिलती है यह एक ऐसी परीक्षा है जिसके लिए बच्चे वर्षों से प्रयास करते रहते हैं और पूरे साल साल भर मेहनत कर कर इस कठिन परीक्षा में बैठते हैं और इस परीक्षा में सफल होने के लिए उन्हें अपने जीवन के अनेकों पल देने पड़ते हैं और दृढ़ संकल्प वाले बच्चे ही इस परीक्षा को निकाल पाते हैं और अपने सपने को साकार कर अपने साथ-साथ अपने माता-पिता का नाम भी घर से पूरे भारत में रोशन कर पाते हैं। इस वर्ष भी यूपीएससी परीक्षा के टॉपर बिहार के निवासी ही निकले हैं बिहार के कटिहार निवासी शुभम कुमार ने देश के प्रतिष्ठित सिविल सर्विस परीक्षा सन 2020 में रेस स्थान हासिल कर अपने क्षेत्र का परचम लहरा दिया है और अपने सपने को साकार किया शुभम ने इससे पहले भी एक बार प्रयास कर रहा था वर्ष 2019 में जिस समय उनको 290 रैंक मिली थी जिससे वह संतुष्ट नहीं थे और उन्होंने निर्णय लिया था कि वह दोबारा इस परीक्षा को देंगे इसके अलावा इस परीक्षा में ऐसे अनेकों छात्र हैं जिन्होंने अपने सपने को साकार कर दिखाया और अपने जीवन के उस लम्हे को हासिल कर सका जिसके लिए वह परसों से सपने देख रहे थे।

टॉपर शुभम कुमार ने आईटीआई मुंबई से पढ़ाई करी है वह कटिहार के कदवा प्रखंड के मुखिया कुम्हारी गांव के रहने वाले हैं इनके अलावा बिहार के कई छात्रों ने शानदार प्रदर्शन किया है और अपने क्षेत्र का नाम रोशन किया है जैसे कि हर शो देखने को मिलता है इस परीक्षा में अभी वडोदरा में उनकी ट्रेनिंग चल रही है पर भीड़ ने पिता की तरह वर्णन की दुकान चलाते हैं उनके पिता भावुक हो गए थे जब उन्होंने फोन पर यह बात सुनी कि उनके बेटे ने यूपीएससी परीक्षा में टॉप किया है तो उनकी आंखें भर आई थी उनके पिता ने कहा कि उनके बेटे के दिन रात का ही नतीजा है कि आज तक पहुंच पाए हैं और अपने सपने को साकार कर दिखाया है। उनकी यह कहानी अनेकों नौजवान युवाओं के लिए प्रेरणा का एक माध्यम है जो कि अपने जीवन में छोटी सी परेशानियां आने पर हार मान जाते हैं और उस कार्य को करना छोड़ देते हैं किसी भी व्यक्ति को कभी भी हार नहीं माननी चाहिए अगर वह प्रयास करता रहेगा तो एक न एक दिन उसे अपने जीवन में सफलता जरूर मिलेगी और वह अपने सपने को साकार कर पाएगा और अपनी मंजिल तक पहुंच पाएगा।

+