एक ही नोट्स के मदद से की थी दोनों बहनों ने UPSC की तैयारी ,बड़ी बहन ने हासिल किया 3 स्थान ,तो वही छोटी बहन ने 21वे इस्थान हासिल किया …………

जब इंसान सफल होता है वो उसकी एक दिन की मेहनत नहीं होती है इसके पीछे कई साल कितनी राते और न जाने कितनी असफलताएं होती है क्युकी कोई भी मुकाम रातो रात नहीं बनता है। उसको पाने के लिए समय मेहनत और असफलता जरूर होती है आज हम आपको ऐसे ही एक लड़की की कहानी बताने जा रहे है जिसने इतिहास रच दिया। लेकिन जरूरी यह है कि हर व्यक्ति उस असफलता से कुछ सीखे। अपनी हिम्मत न हारे, और असफलता को सफलता की पहली सीढ़ी मानकर आगे बढ़ जाये। अपनी गलतियों की समीक्षा करे। अपनी कमजोरियों पर आत्मचिंतन करे और दोबारा पूरे मन से लग जाये। तब वह व्यक्ति निश्चित ही सफल होता है। कुछ इसी प्रकार की कहानियां जम आप सब लोगों को सुनाने वाले हैं जहां पर दो बहनों ने एक साथ मिलकर एक ही नोट के साथ यूपीएससी जैसे कठिन परीक्षा की तैयारी करें और अपने परिवार को गौरवान्वित महसूस कराया और दोनों ही बहनों ने एक ही साथ मिलकर इस परीक्षा में तीसरे स्थान और 21 स्थान के साथ अपने सपने को साकार किया।

जिसमें बड़ी बहन का नाम है निकिता जैन और वही छोटी बहन का नाम है वैशाली जैन जिन्होंने यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी एक ही नोट्स करी और दोनों ने अपने लक्ष्य को प्राप्त किया एक ही साथ उन दोनों बहनों को कहना है कि पढ़ाई करते वक्त उन्होंने एक दूसरे की मदद करें और इसी का नतीजा यह है कि उन दोनों ने सफलता भी एक साथ अर्जित करें अगर हम बात करें प्रयासों की तो अंकित ने अपने चौथे प्रयास में कठिन परीक्षा को पास किया तो वही उनकी छोटी बहन इतिहास में इस परीक्षा में सफलता पाई दोनों ही बहनों ने अपने माता-पिता का नाम ऊंचा कर दिया और गांव में उनकी इज्जत बढ़ा दी जिसकी कल्पना भी नहीं कर सकते थे अपने जीवन में।

यह दोनों बहने अनेकों नौजवान युवकों युवतियों के लिए प्रेरणा है क्योंकि इन्होंने बिना किसी की मदद से आपस में एक दूसरे की मदद कर इतने बड़ा कीर्तिमान रच दिया जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता और सभी नौजवानों के लिए एक प्रेरणा है और सभी को इनसे सीख लेनी चाहिए।

+