कभी गांव में चराया करती थी भैंसे , लेकिन मेहनत कर “132 वी रैंक” लाकर बनी आईएएस अधिकारी

आज भी भारत देश के छोटे-छोटे गांव और कस्बों में ऐसे अभ्यर्थी मौजूद हैं जिन्हें अच्छी शिक्षा का अवसर प्राप्त नहीं होता जिसके कारण वह अपनी काबिलियत कभी सीधी नहीं कर पाते और उनके सपने उनके मन में ही दुकानों के रह जाते हैं लेकिन उसमें से कुछ व्यक्ति ऐसे होते हैं जो कि अपने सपनों को पूरा करने के लिए जी जान लगा देते हैं और कुछ ऐसा कर जाते हैं जो लोगों के लिए प्रेरणा बन जाता है कुछ ऐसा ही कर दिखाया है IAS C. Vanmathi ने जिन्होंने एक छोटे से कस्बे से निकलकर आने वाले लोगों के लिए एक मार्गदर्शन करते हुए कुछ ऐसा कर दिखाया है जो सालों तक याद रखा जाएगा वहां अपने गांव में गाय भैंस चराए करती थी और उसी से अपनी गुजर-बसर किया करती थी लेकिन उन्होंने एक बार टीवी देखा है जिसके जरिए उनको आईएएस अधिकारी बनने की इच्छा हुई और उन्होंने उस सपने को साकार करने के लिए हर वह प्रयास किया जो कि संभव था और आखिरकार अपनी मंजिल तक पहुंच आईएएस अधिकारी बनी और अपने साथ-साथ अपने क्षेत्र और अपने माता-पिता का नाम भी रोशन करें और अपने जिले को एक नई पहचान दिलाई।

उन्होंने अपने इंटरमीडिएट कक्षा की पढ़ाई करने के बाद अपना ग्रेजुएशन भी जल्द ही पूरा किया इसके बाद उन्होंने निर्णय किया कि वह कंप्यूटर एप्लीकेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री लेंगी जब उन्होंने पोस्ट ग्रेजुएशन पूरा कर दिया तो उनकी नौकरी एक बैंक में लग गई नौकरी लगने के बाद उनके घर के हालात धीरे-धीरे संभलने लगे और उनके घर की दिशा वापस पटरी में आने लगी जब उन्होंने अपने जीवन में थोड़े बहुत पैसे जोड़ लिया और अपने परिवार की स्थिति में काफी हद तक सुधार कर दिया तो उन्होंने निर्णय लिया कि यूपीएससी की तैयारी करेंगे।

आईएएस अफसर बनने की चाह जागी थी टीवी देखकर

साधारण परिवार में जन्म लेने के कारण वनमती पर 12वीं कक्षा को पास करने के बाद घर से शादी का दबाव बढ़ने लगा और उनके परिवार और रिश्तेदारों पर से काफी दबाव बनाया गया उनकी शादी को लेकर लेकिन उन्होंने एक बार अपने जीवन में गंगा यमुना सरस्वती नाम का टीवी सीरियल देखा था जिसमें उन्होंने एक एक्ट्रेस को आईएएस अफसर बनते हुए देखा था किसी सीरियल को देखने के बाद उन्होंने यह निर्णय ले लिया था कि वह भी अपने जीवन में एक आईएएस अफसर बनेगी और उन्होंने अपने पूरे प्रयास करके किसी तरीके से शादी का प्लान टाल दिया और तैयारी यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी।

+