गलती से भारतीय सीमा में घुस आया था छोटा सा “मासूम बालक”, चॉकलेट और बिस्कुट देकर BSF के जवान ने पाकिस्तान किया रवाना

पिछले कई समय से भारत और पाकिस्तान के बीच के रिश्ते में काफी ज्यादा खटास आ चुकी है और दोनों ही मूल को एक दूसरे को एक सीरत भी नहीं खाते हैं लेकिन आज हम आप सभी लोगों को एक बात बताने वाले हैं जिसे सुनकर आप सभी लोगों के होश उड़ जाएंगे बात कुछ इस प्रकार है कि फ्लैग मीटिंग कर 8 साल के मासूम करीम को वापस पाकिस्तान को साफ कर भारतीय जवानों ने मानवता की मिसाल पेश करें जिसके लिए आज पूरे विश्व में उसकी तारीफ हो रही है।

राजस्थान के बाड़मेर जिले की सीमा पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान से लगती है. शुक्रवार को पाकिस्तान की ओर से 8 साल का मासूम करीम अचानक भारतीय सीमा में घुस आया. जवानों की नजर जब उस पर पड़ी तो वह जोर-जोर से रोने लगा. ऐसे में भारतीय जवानों ने मानवता की मिसाल पेश करते हुए बिस्किट-चॉकलेट और पानी पिलाकर मासूम को चुप करवाया. फिर फ्लैग मीटिंग कर उसे वापस पाकिस्तान को सौंप दिया.

यह बात तो आप सभी लोगों को पता होगी कि दोनों ही मुल्कों के बीच में रिश्ते बिल्कुल भी अच्छे नहीं है ऐसे में फ्लैग मीटिंग कर 8 साल के मासूम करीम को वापस पाकिस्तान को सौंप कर भारतीय जवानों ने जो दरियादिली दिखाई है वह किसी से कम नहीं है भारतीय सेना ने इस काम की तारीफ पाकिस्तान से रंजन ने भी करी और उन्होंने भी भारत के सभी जवानों की तारीफ करी है।

गुजरात फ्रंटियर के प्रवक्ता डीआईजी एम एल गर्ग ने बताया कि शुक्रवार शाम करीब 5 बजे अचानक बाखासर से BP No.888/2-S से एक मासूम भारतीय सीमा में घुस आया. जब जवानों ने उसे घर वापस जाने को कहा तो वह बालक रोने लगा जिसे देखने के बाद सभी जवानों ने उसे मिलकर चुप कराया और उसके बाद फ्लैग मीटिंग करके उसे वापस पाकिस्तान रेंजर्स को सौंप दिया और वहां से रवाना हो गए जवानों ने मासूम को बिस्कुट चॉकलेट सहित अन्य सामग्री देकर वापस उठाया और बच्चे खुशी-खुशी जवानों के साथ अपने प्रदेश चला गया।

+