गूगल ने 21 वर्षीय छात्रा की योग्यता देख दिए उसे 60 लाख का पैकेट परिवार के लिए गर्व की बात……..

मित्रों इस बात से तो कोई इनकार नहीं करेगा कि आप जितना ज्यादा पढ़ाई करोगे आपके भविष्य के लिए उतना ही अच्छा है पर अगर आप शिक्षा हैं पर विश्वास नहीं करोगे तो मानव को दानव बनने से कोई नहीं बचा सकता क्योंकि अगर आज के समय में लोग शिक्षित नहीं होंगे तो उन्हें आने वाले समय में बहुत ज्यादा कष्टों का सामना करना पड़ सकता है इसी क्रम में आज हम आपको एक ऐसे छात्रों की कहानी सुनाने वाले हैं जिन्होंने इतिहास दिया और गूगल जैसी विश्व प्रसिद्ध कंपनी में 60 लाख का पैकेट पाकर अपने परिवार का नाम गर्व से ऊंचा कर दिया और उन्हें एक नए मुकाम तक पहुंचा दिया।

आज हम आप सभी लोगों को शालिनी की कहानी सुनाने वाले हैं जो कि भागलपुर जिले की पहली बेटी हैं जिन्होंने महज 21 वर्ष की उम्र में यह इतिहास रच दिखाया और गूगल जैसी बड़ी कंपनी में 60 लाख का पैकेट लिया शालिनी स्थानीय मुराद का विश्वविद्यालय के रसायन विभाग यह रहे प्रोफेसर उमेश्वर झांकी पुत्री एवं कामेश्वर झा की पुत्री हैं परिवार को इस बात की अपार खुशी है कि उनकी बेटी को इतना बड़ा पैकेज मिला और साथ ही साथ उन्होंने अपने परिवार का नाम रोशन कर दिया उन्होंने इतनी कम उम्र में ही अपनी बड़ी उपलब्धि हासिल कर दी शालिनी उन सभी लड़कियों के लिए एक प्रेरणा का जरिया है जो कि जीवन में किसी न किसी दिक्कतों के कारण अपने आपको दूसरों से कमजोर रखती हैं और अपने जीवन में आगे बढ़ने से कतराती हैं आपकी जानकारी के लिए हम यहां भी बता देते हैं कि बचपन से ही सालनी पढ़ने लिखने में काफी अच्छी थी और वह हमेशा अपनी कक्षा में अव्वल आया करती थी जिसके चलते परिवार वालों को हमेशा उन पर भरोसा था कि एक न एक दिन अपने जीवन में कुछ कर दिखाएंगे और अपने परिवार का नाम रोशन करेंगी।

+