जब कोरोना की महामारी के दौरान भी पिता की मौत तो बेटे ने उनकी याद में बनवा लिया घर में स्टेच्यू

एक बेटे और पिता के बीच में क्या नाता होता है इस बात का वर्णन शब्दों में नहीं किया जा सकता है इतना पवित्र बंधन है इसके बारे में हम जितना चाहे उतना कम है लेकिन आज हम आपको एक बेटे की कहानी सुनाने वाले हैं जिसने अपने पिता की याद में कुछ ऐसा कर दिखाया जिसके बारे में आप सोच भी नहीं सकते एक बेटे ने अपने पिता की मृत्यु के बाद उनका ऐसे स्टेचू बनवाया जो बिल्कुल हूबहू उन्हीं की तरह दिखता है जिसकी वजह से अब किसी को भी उनकी कमी महसूस नहीं होती ऐसा उनका कहना है कि मामला महाराष्ट्र के सामने आया है और गाली के रहने वाले के पिता की मृत्यु पिछले वर्ष कोरोना की महामारी के दौरान हुई थी उनके पिता एक पुलिसकर्मी थे।

अरुण के पिता का नाम रावसाहेब शामराव कोरे था जो कि एक पुलिसकर्मी थे लेकिन कोरोनावायरस से उनकी मृत्यु हो गई तो बेटे ने उनकी याद में एक सिलिकॉन का स्टेचू बनवा दिया जो कि बिल्कुल हूबहू उन्हीं की तरह दिखता है और आजकल सोशल मीडिया में काफी वायरल भी हो रहा है जिसकी वजह से लोग लड़के की बहुत तारीफ कर रहे हैं और सराहना कर रहे हैं।

अरुण ने बताया कि उन्होंने एक झूठी वीडियो पर एक व्यक्ति के बारे में देखा जिसने अपनी पत्नी के निधन के बाद उसके स्टेचू बनवाया था उसी से प्रेरणा लेने के बाद उसने ऐसा कार्य करने के लिए अपने कदमों को आगे बढ़ाया स्टेचू बनवाने में और रूम में लगभग 15 लाख रुपए खर्च करें जो कि सोचने योग्य बात है यह स्टेचू 50 सालों तक सुरक्षित रहेगा इसकी वारंटी देते हैं रावसाहेब की पत्नी ने कहा कि मेरे पति के निधन के बाद पूरे परिवार में बहुत दुख का माहौल था लेकिन जब से उनके बेटे नहीं गए कार्य किया है उसके बाद से परिवार वालों को उनकी याद कम आती है और मैं ऐसा लगता है कि वहां हमेशा उन्हीं के साथ मौजूद है हर पल हर जगह।

+