डेयरी फार्मिंग का छोटा सा बिज़नेस शुरू किया था , केवल 11 वर्ष की उम्र में ,आज खड़ी कर दी है अपनी कंपनी………

अगर हम पौराणिक काल से आज की तुलना करें तो भारत देश में नारियों को और भी ज्यादा आगे बढ़ने का मौका मिल रहा है और वह और भी तेजी से तरक्की कर रही है आए दिन नई नई खबरें आती हैं कि किस तरीके से महिलाएं हर जगह में कामयाबी हासिल कर रही हैं और पुरुषों से भी अच्छा कार्य कर अपनी मौजूदगी का एहसास दिला रहे हैं उन्होंने लगभग हर क्षेत्र में अपना दम दिखाया है जैसे कि खेलकूद बॉक्सिंग तथा अन्य कई खेल लेकिन आज हम आप सभी लोगों को महाराष्ट्र की रहने वाली है कि ऐसी ज्योति के बारे में बताएंगे जिन्होंने अपनी मजबूरी को ही अपनी ताकत बना लिया और एक ऐसा कारनामा कर दिखाया जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता।

श्रद्धा धवन की पूरी कहानी

महाराष्ट्र के अहमदनगर में 60 किलोमीटर की दूरी पर एक छोटा सा गांव स्थित है जहां पर 21 साल की श्रद्धा धवन अपने छोटे से परिवार के साथ रहती है श्रद्धा एक मध्यमवर्गीय परिवार से तालुकात रखती थी श्रद्धा पिछले 10 सालों से डेयरी फार्मिंग का काम संभाल रही है वह खुद भैंस का दूध निकालती हैं और उनकी देखभाल भी करती हैं साथ ही साथ वह सुबह सवेरे लोगों के घर जा जाकर दूध की डिलीवरी किया करते हैं केवल 21 वर्ष की छोटी सी उम्र में जहां उन्होंने अपने परिवार की जिम्मेदारी भी संभाली। उसके साथ साथ बिजनेस नहीं किया डेयरी फार्मिंग में भैंस का दूध निकालने और उसे डिलीवर करने का काम नहीं करती बल्कि भैसों को चारा डालते हैं भी हैं और सारा दिन उनकी देखभाल भी करती रहती हैं आमतौर पर किया करते हैं ऐसी मानना है भारत में लेकिन उस धारणा को बदल दिया है और यह कारनामा कर दिखाया।

रोजाना करीब साडे 450 लीटर से भी ज्यादा दूध का करती हैं कारोबार

उन्होंने महज 11 वर्ष की छोटी सी उम्र में ही अपने माता-पिता की तबीयत खराब होने के चलते उनके कामकाज में हाथ बढ़ाना शुरू कर दिया था और उनकी हर वह संभव मदद करती थी जो उनसे हो पाती थी लेकिन आज वहां लगभग 600000 से भी ज्यादा की कमाई कर रही हैं जो कि एक युवती के लिए काफी सराहनीय काम है और वह जीवन में बहुत कुछ करना चाहते हैं हालांकि शरदा धवन ने अपने जीवन में कभी हार नहीं मानी और उनके जीवन में जितने भी परेशानी आई उन्होंने उससे लड़के अपना रास्ता बनाया और आज इस मुकाम तक पहुंच गए हैं अब उन्होंने अपने इस कारोबार में नए-नए तरीकों का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है जितने धीरे धीरे कर कर उनकी आमदनी भी दोगुनी होती चली जा रही है और उनका बिजनेस रात दोगुनी और दिन चौगुनी की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published.