तेजस्वी यादव बंधे शादी के बंधन में अपनी पुरानी दोस्त एलेक्सिस संग लिए सात फेरे ,दोस्ती बदली सात जन्मों के बंधन में

तेजस्वी यादव को तो आप सभी लोग जानते ही होंगे बिहार के सियासत में इनका अलग ही नाम और रुतबा है आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी के सबसे छोटे बेटे का बिहार के डिप्टी सीएम रह चुके तेजस्वी यादव ने बिहार में सियासत में एक अलग ही नाम बनाया हुआ है उन्होंने 9 दिसंबर के दिन सात फेरे लिए अपने ही लोंग टाइम गर्लफ्रेंड एलेक्सिस संग। वह पिछले कई सालों से अच्छे दोस्त थे और उनकी यह दोस्ती अब शादी के बंधन में बंध चुकी है और दोनों ही अपनी जिंदगी के दूसरे दौर में प्रवेश कर चुके हैं।

 तेजस्वी यादव और एलेक्सिस की शादी में सुरक्षा  और प्राइवेसी का पूरा ध्यान रखा गया था और ऐसे में शादी में मीडिया की एंट्री को भी पूरी तरह से बैन किया गया था |  इस वेडिंग फंक्शन में किसी भी तरह की दिक्कत ना हो इसके लिए 2 लेयर की सिक्योरिटी भी हायर की गई थी|

 तेजस्वी यादव और एलेक्सिस की शादी में सिर्फ उनके परिवार वाले, करीबी रिश्तेदार और कुछ कोई भी दोस्त ही शामिल हुए थे| मीडिया रिपोर्ट के अनुसार तेजस्वी यादव और एलेक्सिस ने महज 50 लोग की मौजूदगी में शादी रचाई है और वही बात करें इस शादी के वीआईपी गेस्ट की तो इनकी शादी में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी   अपने परिवार के साथ शामिल हुए थे|

इस शादी में कई 86 खिलाड़ी भी शामिल हुए जिनमें से सबसे प्रमुख नाम है अखिलेश यादव अपनी पत्नी के साथ इस शादी में शामिल हुए उन्हीं के साथ ही तेजस्वी यादव की शादी में यूपी के तमाम विधायक भी शामिल हुए और उनको अपना आशीर्वाद दिया खबर के मुताबिक तेजस्वी यादव की शादी का पूरा कार्यक्रम एक ही दिन में संपन्न हुआ जिसमें कड़ी सिक्योरिटी का ध्यान रखा गया और इन दोनों कपल्स ने पहले सगाई करी और उसके थोड़ी देर बाद शादी के सात फेरों में बंध गए फिर उसी दिन दोनों ने एक दूसरे के साथ सात फेरे लेने का भी निर्णय लिया और शादी के पवित्र बंधन में बंध कर अपने जीवन की एक नई शुरुआत करें।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार तेजस्वी और उनकी पत्नी एक दूसरे को काफी समय से जानते थे और दोनों के ही मध्य में काफी अच्छा तालमेल था और दोनों एक दूसरे को काफी अच्छे ढंग से समझते भी थे जिसके बाद इन दोनों ने एक दूसरे को अपना लाइफ पार्टनर बनाने का निर्णय लिया और शादी करके अपने दोस्ती के बंधन को शादी के बंधन में बदल दिया और 9 दिसंबर को पूरे विधि विधान के साथ एक दूसरे के हो गए।

+