पढ़ाई में कमजोर होने की वजह से 12वीं की छात्र ने उठाया यह कदम माता पिता से कहा अब मैं नहीं कर सकती………

आज हम आपको एक हैरान कर देने वाली कहानी सुनाने वाले हैं जिसे सुनने के बाद आप की भी आंखें नम हो जाएंगी यह कहानी गाजियाबाद की 12वीं की छात्र की है जिन्होंने अपने जीवन से मजबूर होकर यह खतरनाक कदम उठाया छात्र केवल 18 साल की थी और वह पढ़ाई लिखाई में थोड़ी कमजोर थी जिनके पिता संजय त्यागी नोएडा की एक आईटी कंपनी में काम किया करते थे और ज्यादातर वही रहते थे सोमवार के दिन नंदिनी का शव कपड़े से लटका मिला जिसके बाद घटना के एक डायरी भी बरामद हुई जिसमें छात्र ने माफी मांगते हुए लिखा था कि आखिर उसने यह कदम क्यों उठाया जिसे पढ़ने के बाद माता-पिता भावुक हो उठे और अपने आप को संभाल ना सके जब तक वह अपनी बेटी को अस्पताल लेकर जा पाते अस्पताल में जाने के बाद भी उन्हें कुछ हासिल नहीं हुआ और जब पुलिस को इस बात की खबर मिली तो उन्होंने पोस्टमार्टम भी करा और अपनी कागजी कार्रवाई के बाद उन्होंने वापस लौटा दिया।

नंदिनी ने हाल ही में 12वीं पास की थी जिसके बाद वह अच्छे कॉलेज में एडमिशन लेने की कोशिश कर रही थी और उसे एडमिशन नहीं मिल पा रहा था इसी वजह से वह डिप्रेशन में चली गई थी और डिप्रेशन उसको केवल इस वजह से हुआ था कि उसके 12वीं में नंबर कम थे और उसे नहीं कॉलेज में एडमिशन नहीं मिल रहा था जिसकी उसे उम्मीद थी नंदिनी ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि मैं आप सभी से माफी मांगना चाहती हूं लेकिन मेरे पास और कोई रास्ता नहीं था। इसलिए मैंने अपने जीवन में यह कदम उठाया मैं आपसे क्षमा मांगती हूं कि मैंने आप सभी को इतना दुख दिया क्योंकि मैं अपने जीवन से थक गई थी इसीलिए मेरे पास कोई और रास्ता नहीं था।आई एम सॉरी, यह स्टेप लेने के लिए

+