पिता को हो गया था “कैंसर” एग्जाम की तैयारी के दौरान, लेकिन हिम्मत नहीं टूटी हौसला बुलंद कर बनी आईएएस अफसर

PLAY DOWNLOAD

किसी भी व्यक्ति को अपने जीवन के गोल तक पहुंचने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है यह केवल और केवल उस व्यक्ति पर निर्भर करता है कि वह अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कितनी मेहनत कर सकता है और कितना निर्भर होकर आने वाली मुसीबतों से लड़कर अपनी मंजिल तक पहुंच पाता है काफी लोग ऐसे होते हैं जो थोड़ी बहुत तकलीफ होगी कारण डर जाते हैं और अपना रास्ता बदल लेते हैं लेकिन कुछ लोग इतने दृढ़ निश्चय वाले लोग होते हैं कि वह लाखों कोट नहीं आने के बाद भी अपने पद पर अडिग रहते हैं और जब तक उन्हें मंजिल नहीं मिल जाती वह उसके लिए लड़ते रहते हैं और एक न एक दिन सफलता पाकर अपने जैसे और लोगों को प्रेरित करते हैं कि अगर आप की कोशिश और परिश्रम में सच्ची लगन है तो आप एक न एक दिन अपने जीवन में सफल अवश्य हो गए और दुनिया को यह कर दिखाओगे की मेहनत करने वाले की कभी हार नहीं होती।आज हम आप सभी लोगों को एक ऐसे आईएएस ऑफिसर की कहानी सुनाने वाले हैं जिन्होंने अनेकों कठिनाइयों का सामना किया लेकिन तौबा तो तब हो गई जब इनकी यूपीएससी के एग्जाम की तैयारी के दौरान के पिता को कैंसर हो गया उसके बाद उन्होंने हिम्मत नहीं हारी।

PLAY DOWNLOAD

पिता को था कैंसर लेकिन फिर भी हार नहीं मानी

जिस वक्त रितिका अपने पेपर के लिए तैयारी कर रही थी उसी वक्त उन्होंने अपने जीवन का सबसे मुश्किल पल भी बिताया। उस वक्त उनके पिताजी को टॉंग कैंसर हो गया। रितिका के लिए यह घड़ी बहुत ही ज्यादा दुख भरी थी। लेकिन फिर भी अपने सारे दुख दर्द को अंदर समां लिया। क्योंकि उन्हें अपने साथ-साथ अपने परिवार का भी हौसला बनाए रखना चाहिए उनके परिवार की हर एक व्यक्ति की उम्मीद मनो टूट गई थी। उन्होंने उस कठिन परिस्थिति में भी हार नहीं मानी और परिश्रम करती रही , जिसका फल उन्हें कुछ समय बाद में मिला। रितिका पढ़ने लिखने में बचपन से ही काफी तेज थी और हमेशा अपनी कक्षा में अव्वल आया करती थी। वह बचपन से अपने स्कूल में अपने टीचरों की चाहती थी।

upsc की परीक्षा के पहला प्रयास में उन्हें सफलता नहीं मिली लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और अपनी तैयारी दोगुनी कर दी और रात दिन एक कर दिया अपने सपने को पूरा करने के लिए जिसका फल उन्हें कुछ समय बाद मिला और उन्होंने अपने दूसरे प्रयास में पूरे भारत देश में 88 रैंक लाकर अपने सपने को साकार किया और उस एग्जाम को क्रैक किया।

PLAY DOWNLOAD

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *