पुजारी ने दिलाया “ऑस्ट्रेलिया से भारत” आई विदेशी महिला पर, शादी कर महिला यहीं बस गई………….

भारत देश अपनी पुरानी संस्कृति और सभ्यता के कारण पूरे विश्व में प्रसिद्ध है पौराणिक काल से ही भारत को परंपरा और संस्कृति से लबरेज देश माना गया है। हमारे यहां पर जिस प्रकार से अतिथि का स्वागत किया जाता है ,उसे मानो भगवान का दर्जा दिया जाता है। यहां बात पूरे विश्व में प्रसिद्ध है और लोग इसे काफी हद तक अपनाने की कोशिश करते हैं। आज हम आपको जिस घटना के बारे में बताने वाले हैं। वह उत्तराखंड के श्रीनगर के प्रसिद्ध पैटर्न धारा मंदिर की है। जहां पर हुआ कुछ यूपी “ऑस्ट्रेलिया से एक महिला” ने सन्यासी बाबा बर्फानी के साथ हिंदू रीति रिवाज के अनुसार शादी करी और उसके बाद वापस ऑस्ट्रेलिया नहीं तो आइए हम आपको बताते हैं इस कहानी के बारे में विस्तार से।

दरअसल बात कुछ यूं है कि 40 वर्षीय जूलिया नाम की महिला ऑस्ट्रेलिया से नवरात्रि के मौके पर बद्रीनाथ भगवान के दर्शन करने के लिए उत्तराखंड आई थी। इस दौरान उनके साथ उनका एक 5 वर्ष का छोटा बेटा भी था, बल्कि उनका एक बेटा 14 साल का ऑस्ट्रेलिया में है। जो कि अभी पढ़ाई कर रहा है जूलिया के मुलाकात बद्रीनाथ में दर्शन करते वक्त मंदिर के पास ही एक बाबा सिद्ध नाथ महाराज ब्रह्माणी धाम से हुई। काफी लंबे समय तक जूलिया नहीं योगी साधना की और इसके अलावा उन्होंने ब्राह्मण विद्या का ज्ञान भी लिया हुआ था।

सूत्रों के हवाले से मिली खबर के अनुसार आश्रम में रहने के दौरान जूलिया का बेटा पंडित जी को पिताजी कहकर बुलाने लगा था। जिसके बाद जूलिया ने पंडित जी से ही शादी करने का निर्णय ले लिया और उनके साथ आगे का जीवन व्यतीत करने का प्रण लिया। जूलिया ने जब पंडित जी से शादी की बातचीत करी तो पंडित जी मना नहीं कर सके और उस प्रस्ताव को हां कर दिया। इसके बाद मंदिर के सभी सदस्यों के सामने पूरे हिंदू रीति रिवाज के अनुसार दोनों का विवाह संपन्न हुआ।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *