बिहार के समस्तीपुर जिले के 3 अभ्यर्थियों ने यूपीएससी परीक्षा में उत्तीर्ण हो रचा इतिहास………..

भारत देश में यूपीएससी की परीक्षा को सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है जिसके लिए हर वर्ष करीब लाखों से भी ज्यादा बच्चे प्रयास करते हैं लेकिन उनमें से केवल सूची बच्चे ऐसे होते हैं जिन्हें सफलता हासिल होती है और यह हर वर्ष देखा गया है कि इस परीक्षा में सबसे ज्यादा बच्चे बिहार से निकलते हैं और अपने सपने को साकार करते हैं आज हम आप सभी लोगों को इस वर्ष 2020 यूपीएससी के रिजल्ट के बारे में कुछ जानकारी देने वाले हैं। यह बात तो आप सभी लोगों को पता ही है जभी भी यूपीएससी का जिक्र आता है तो सबसे पहले हर एक व्यक्ति के दिमाग में बिहार का नाम आता है क्योंकि अब तक के इतिहास में सबसे ज्यादा बिहार के ही बच्चे यूपीएससी की परीक्षा में पास करते हैं और इतिहास बनाते हैं। इस वर्ष का परिणाम घोषित हुआ तो यूपीएससी परीक्षा के टॉपर बिहार के शुभम कुमार निकले और इस परीक्षा में इस वर्ष केवल 545 पुरुष और 216 महिला अभ्यर्थी समेत कुल 761 उम्मीदवारों को सफलता मिली है और उन्होंने अपनी मंजिल को हासिल कर लिया है बिहार के लाल शुभम कुमार ने देशभर में प्रथम स्थान लाकर विश्व रिकॉर्ड बना दिया है

अगर हम बात करें बिहार की तो वहां पर समस्तीपुर जिले के तीन उम्मीदवारों को कामयाबी हासिल हुई है जो कि एक सराहनीय बात है समस्तीपुर के पास के सत्यम कुमार शुरुआती पढ़ाई गांव में ही करने के बाद दिल्ली के डॉक्टर दयाल सिंह कॉलेज में राजनीतिक शास्त्र में पिछले साल ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करी है मगर हम दूसरे व्यक्ति की बात करें तो उनका नाम है अल्तम गाज़ी वो भी उसी जिले के रहने वाले हैं और उन्होंने भी इस परीक्षा में सफलता हासिल करें है।

उन्होंने अपनी 12वीं की पढ़ाई के बाद यूपीएससी की तैयारी के लिए दिल्ली जाने का निर्णय लिया था और वहां जाकर पढ़ाई करनी शुरू कर दी थी और आज उनकी मेहनत रंग लाई और उन्होंने यूपी एसएससी कठिन परीक्षा को पास कर अपना सपना साकार कर दिखाया उन्होंने यूपी के इस सत्र में 282 वी रैंक लाकर अपनी मंजिल को पा लिया वहीं अगर हम बात करें प्रशांत किरण ने भी इस परीक्षा में सफलता हासिल करें और 14 4 भी रैंक लाकर अपने सपने को साकार कर अपने माता-पिता का नाम रोशन करें और आने वाली अनेकों पीढ़ियों के लिए एक प्रेरणा दी।

+