मनचले युवक कॉलेज जाते हुई लड़कियों को करते थे परेशान, डॉक्टर ने अपने पैसों से शुरू करी बस सेवा कॉलेज जाने के लिए

लगभग हर जगह पर मान और सम्मान मिलता है लेकिन कहीं पर कुछ ऐसी घटनाएं सामने आती है जो शर्मनाक होती हैं और लोगों को काफी शर्मसार कर देती है उसी प्रकार की घटनाएं देखने को मिल रही थी पंजाब के एक छोटे से जिले फरीदकोट के कोटकपूरा जहां पर कुछ मनचले युवक कॉलेज जाती हुई लड़कियों को छेड़ा करते थे और उन्हें मजबूरन उनसे बचने के लावा कोई और रास्ता नहीं था क्योंकि उनके पास इतने पैसे नहीं थे। आज आप सभी लोगों को एक ऐसे ही देनी संसद के बारे में बताने वाले हैं जिसका नाम है आपकी आगे उन्होंने इतना सराहनीय कदम उठाया कि जिसके लिए उन्हें काफी जगह सम्मानित भी किया गया और लोग उनकी तारीफ करते नहीं थकते क्योंकि उन्होंने हमारे नौजवान स्त्रियों के लिए कुछ ऐसा कर दिखाया जिसके लिए हर एक लड़कियों के भरोसेमंद है।

कौन हैं आरपी यादव (R.P YADAV)

आरपी यादव (RP YADAV) पेशे के डॉक्टर हैं। उनकी उम्र 61 साल है और वह राजस्थान (RAJASTHAN) के नीम का थान स्थित एक अस्पताल में बच्चों के डॉक्टर हैं। वह कोटपूतली गाँव के रहने वाले हैं। डॉ आरपी यादव का शुरूआत से ही बच्चों से बेहद लगाव रहा है। एक बार की बात है वह किसी काम से अपनी पत्नी के साथ कार से घर आ रहे थे। तभी देखा कि उनके गाँव की ही कुछ लड़कियाँ पैदल ही घर की तरफ़ जा रही हैं। इसे देख आरपी यादव ने कार रोकी और उन्हें अपनी कार से ही गाँव छोड़कर आए। इस सफ़र के दौरान उन लड़कियों ने जो आपबीती बताई वह दिल को झकझोर देने वाली थी।

मनचलों से परेशान थी बच्चियाँ

उन लड़कियों ने कार में बैठने के बाद आरपी यादव को बताया कि उनके गाँव तक कोई परिवहन (PUBLIC TRANSPORT) की व्यवस्था नहीं है। जिससे वह रोजाना कॉलेज से आ जा सकें। ऐसे में जब भी वह पैदल आती है रास्ते में गाँव के ही मनचले लड़के उन्हे परेशान भी करते हैं और भद्दी-भद्दी बातें भी कहते हैं। वह ये सोचकर इन बातों को अपने माता-पिता को नहीं बताती कि कहीं उनकी पढ़ाई ना बंद करवा दें। इन बातों को सुनने के बाद उच्च शिक्षित डॉक्टर ने मन ही मन तय कर लिया कि वह अब इस परेशानी को यही ख़त्म कर देंगे। बेटियों के साथ इस अन्याय को और नहीं होने देंगे

हम आप सभी लोगों को यारा जरूर बताना चाहते हैं कि हंस बस सेवा की कहानी लगभग 2016 की है लेकिन मीडिया में 2017 में आई क्योंकि कभी-कभी कुछ अच्छे अच्छे होते हैं जो कि उस वक्त जब जाते हैं लेकिन बाद में लोगों के भी जाते हैं तो लोगों को काफी अच्छा महसूस होता है।

+