मां चलाती थी एक पेट्रोल पंप ,लेकिन बेटी ने मेहनत कर बनी IAS अधिकारी ,वो भी 21 वर्ष की उम्र में………..

यूपीएससी जैसी कठिन परीक्षा को पास करने का ख्वाब तो लाखों विद्यार्थी देखते हैं लेकिन उसे हासिल केवल कुछ ही लोग कर पाते हैं क्योंकि हर वर्ष करोड़ों से भी ज्यादा प्यार थी इस परीक्षा के लिए तैयारी करते हैं और भारत देश में को सबसे कठिन परीक्षा में से एक माना जाता है जिसे पास करने का सपना बहुत व्यक्तियों का होता है इस परीक्षा की इतनी कठिन तैयारी करनी पड़ती है जिसके बारे में आप सभी सोच भी नहीं सकते और बच्चे कितने वर्ष लगा देते हैं अपनी मंजिल को पाने के लिए फिर भी उन्हें अपनी मंजिल नहीं मिलती।

भारत देश में इस परीक्षा को लेकर युवाओं के बीच में अलग ही प्रकार का जोश देखने को मिलता है और बच्चे बड़े ही कठिन परिश्रम और दिन शक्ति के साथ इस परीक्षा को पास करने के लिए प्रयास करते हैं लेकिन आज हम आप सभी लोगों को एक ऐसे आईएएस अधिकारी की कहानी सुनाने वाले हैं जिन्होंने केवल 22 वर्ष की उम्र में ही आईएएस अधिकारी बन इतिहास रच दिया है और अपने सपनों को पूरा किया है जिनका नाम है स्वाति मीणा जो कि राजस्थान के अजमेर के निवासी हैं और स्वाति मीणा शिक्षा के क्षेत्र में शुरू से ही काफी अच्छी थी और बचपन से ही हमेशा अपनी क्लास में अव्वल आया करती थी उन्होंने पूरे समाज को दिखा दिया कि सफलता कभी उम्र की मोहताज नहीं होती .स्वाति मीणा अपने जीवन में बचपन से ही सपना देखा करती थी कि वह एक आईएएस अधिकारी बनेगी और आज उन्होंने सपने को पूरा कर इतिहास रच दिया और अपने माता-पिता का नाम भी गर्व से ऊंचा कर दिया स्वाति मीणा अनेकों नौजवानों के लिए प्रेरणा बन चुकी है क्योंकि उन्होंने इतनी कम उम्र में इस सपने को पूरा करके आने को बच्चों के बीच में अलग ही प्रकार का उत्साह जगा दिया है।

+