यह महिला कूड़ा बीन कर 5 रूपये प्रतिदिन कमा कर ,परिवार का पेट पालती थी ,लेकिन किस प्रकार बन गए करोड़पति

जो भी व्यक्ति अपने जीवन में मेहनत करके रोजी रोटी कमाता है उस व्यक्ति के जीवन में कितनी घटनाएं होती हैं यह केवल वही जान सकता है लेकिन कभी-कभी आपके जीवन में कुछ ऐसे चमत्कार हो जाते हैं जिसके आपको भी कल्पना भी नहीं कर सकते और वह रातों-रात आपको उस पायदान पर पहुंचा देते हैं जहां आप कभी पहुंचने का सपना भी नहीं देखा करते हैं कुछ इसी प्रकार की कहानी आज हम आप सभी लोगों को बताने वाले हैं .

किस्मत कब किस और रुक ले ले यह आप नहीं बता सकते कब आपको पल भर में अमीर बना दे और पल भर में गरीब यह केवल वही जान सकता है अगर उसकी किस्मत में सफलता की सीढ़ी चढ़ने लिखी होगी तो वहां किसी भी कीमत पर वहां तक पहुंच जाएगा और उस मुकाम को हासिल जरूर करेगा।

यह एक ऐसी महिला है जिन्होंने अपनी मेहनत के दम पर गरीबी से लड़कर करोड़ों रुपए तक का सफर तय किया और आज इस मुकाम तक पहुंच गई है कि वह काफी लोगों के लिए प्रेरणा बन चुकी हैं उनका नाम मंजुला वाघेला है।

जानकारी के लिए बता दें इस महिला की उम्र 60 वर्ष है और यह 2081 में कचरा बीनने का काम किया करती थी. लेकिन अब यह एक करोड रुपए का सालाना कारोबार करने वाली एक सफाई कर्मी कंपनी की प्रमुख है. बता दे पहले मंजुला अहमदाबाद की सड़कों पर कूड़ा बीनने का काम किया करती थी. मुश्किल से एक दिन में यह महिला महज़ ₹5 की कमाई ही कर पाती थी. लेकिन उसे क्या मालूम था कि अपनी मेहनत के दम पर वह है कई लोगों के लिए प्रेरणा बन जाएंगी.

एक बार की बात है जब उनका परिचय एंप्लॉयड वीमेंस एसोसिएशन की स्थापक इला बेन भट्ट से हुआ. वह अभी मंजुला की सफाई करने में मदद करती हैं व्यवसाय को खड़ा करने के लिए मंजुला ने काफी सारी चुनौतियों का सामना किया लेकिन उन्होंने कभी भी हिम्मत नहीं हारी और अपने पद पर अडिग रही और कभी भी मेहनत करने से पीछे नहीं हटी इसी प्रकार से उन्होंने अपनी सफलता की लंबी लड़ाई को जारी रखा और अपने पति से बिल्कुल भी नहीं भटके जिसके साथ ही आ जाओ उस मुकाम पर हैं की लाखों लोगों के लिए प्रेरणा बन चुकी है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *