ये हैं 10 बेस्ट कमांडो फोर्स, जो करती है दुनिया की रक्षा

PLAY DOWNLOAD

दुनिया में आतंकी गतिविधियां बढ़ रही हैं। सभी देश अपनी और अपने नागरिकों की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कर रहे हैं. देश और उसके लोगों की रक्षा के लिए, हर देश ने अपनी सेना से सबसे बहादुर और शक्तिशाली सैनिकों का चयन करके एक विशेष बल का गठन किया है। जो पूरी दुनिया में इंसानियत के दुश्मनों से लड़ता है।

 

1. भारत की सर्वश्रेष्ठ कमांडो फोर्स ‘मार्कोस’

भारत के मार्कोस की गिनती दुनिया के बेहतरीन कमांडो फोर्सेज में होती है। ये भारतीय नौसेना के मरीन कमांडो हैं।

PLAY DOWNLOAD

मार्कोस कमांडो दुनिया भर में अपनी बहादुरी और सफल ऑपरेशन के लिए जाने जाते हैं। वे जमीन, हवा और पानी पर लड़ने में सक्षम हैं।

PLAY DOWNLOAD

मार्कोस कमांडो कड़ी ट्रेनिंग के बाद तैयारी करते हैं। वे राइफल, स्नाइपर्स से सभी आधुनिक हथियारों को चलाना जानते हैं। लेकिन निहत्थे मार्कोस और भी खतरनाक साबित होते हैं। क्योंकि ये बिना हथियार के भी दुश्मनों की जान ले सकते हैं। इन कमांडो को मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग दी जाती है।

PLAY DOWNLOAD

मार्कोस कमांडो हर तरह के हथियारों, हेलिकॉप्टरों, जहाजों को चलाना जानता है। सेना में एक कहावत है कि मार्कोस कमांडो प्रशिक्षण के लिए 10,000 सैनिकों में से एक का चयन किया जाता है। मार्कोस कमांडो। प्रसिद्ध अमेरिकी नौसेना सील मानसिक और शारीरिक क्षमताओं में भी पीछे हैं। 26/11 के मुंबई हमलों में आतंकियों से निपटने में उनकी खास भूमिका थी।

 

 

2. यू.एस. डेल्टा फ़ोर्स

यूएस स्पेशल फोर्स ऑपरेशनल डिटैचमेंट, या डेल्टा, एक विश्व प्रसिद्ध कमांडो फोर्स है। यह कमांडो फोर्स दुनिया में सबसे खतरनाक, तेज एक्शन के लिए जानी जाती है। उनकी स्थिति अमेरिकी खुफिया बलों में शीर्ष पर मानी जाती है। यह बल सबसे उन्नत तकनीक से प्रशिक्षित है

डेल्टा फोर्स को विशेष मिशन के लिए बनाया गया है। डेल्टा फोर्स कमांडो ने कई बड़े ऑपरेशन को अंजाम दिया है।

2001 के दौरान, अफगानिस्तान में तालिबान को खत्म करने के लिए डेल्टा फोर्स का इस्तेमाल किया गया था। पिछले साल इस्लामिक स्टेट के नेता बगदादी को डेल्टा फोर्स ने सीरिया में एक गुप्त मिशन में मार गिराया था। कुख्यात आईएस आतंकी बगदादी को मारने के मिशन में 70 डेल्टा कमांडो शामिल थे।

 

3. यू.एस. नेवी सील्स

डेल्टा की तरह, नेवी सील संयुक्त राज्य अमेरिका में दूसरी सबसे घातक और सबसे खतरनाक कमांडो फोर्स हैं। इस फोर्स के कमांडो जमीन से ज्यादा पानी में खतरनाक होते हैं। वे पानी के नीचे, यानी समुद्री युद्ध और संचालन के लिए डिज़ाइन किए गए हैं।

इनकी ट्रेनिंग भी दुनिया में सबसे खतरनाक मानी जाती है। ऐसा कहा जाता है कि नेवी सील में शामिल होने से पहले 100 में से 95 सैनिकों को खारिज कर दिया जाता है। नेवी सील टीम 6 कमांडो ने अफगानिस्तान में ओसामा बिन लादेन को मारने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

 

 

4. यूके स्पेशल एयर सर्विस

यह ब्रिटिश कमांडो फोर्स दुनिया की तमाम स्पेशल फोर्सेज के लिए प्रेरणा का स्रोत है। क्योंकि दुनिया में हर जगह ब्रिटिश स्पेशल एयर सर्विस कमांडो की तर्ज पर ट्रेनिंग की परंपरा है।

माना जा रहा है कि स्पेशल एयर सर्विस युद्ध की स्थितियों से निपटने में बेजोड़ है। इसके कमांडो जमीनी लड़ाई में माहिर होते हैं। इसे दुनिया की सबसे पुरानी और बेहतरीन ताकत माना जाता है।

1941 में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान ब्रिटेन द्वारा विशेष वायु सेवा का गठन किया गया था। यह अपनी जबानजी के लिए पूरी दुनिया में पूजनीय है।

PLAY DOWNLOAD

ये बल अत्यंत घातक प्रशिक्षण से गुजरते हैं और सभी प्रकार के वातावरण से निपटने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं।

 

 

5. इज़राइल के सारेत मटकल

इजराइल एक ऐसा देश है जो चारों तरफ से दुश्मन देशों से घिरा हुआ है। इसलिए इजरायल ने अपनी सुरक्षा के लिए दुनिया की सबसे खतरनाक कमांडो फोर्स को बनाए रखा है।

इस कमांडो फोर्स को इजराइल की राष्ट्रभाषा यानि हिब्रू में सैराट मटकल कहा जाता है। इसकी स्थापना 1957 में हुई थी।

इस इजरायली सेना ने दुनिया के सबसे कठिन ऑपरेशन को अंजाम दिया है। इसी बल ने 1976 में युगांडा के एंटेबे हवाई अड्डे पर 106 यात्रियों को बचाने के लिए एक मिशन को सफलतापूर्वक पूरा किया।

बल की इकाई को हाई-प्रोफाइल और गुप्त आतंकवाद विरोधी अभियानों में भाग लेने के लिए डिज़ाइन किया गया है। मटकल कमांडो की सख्त ट्रेनिंग 1 साल 8 महीने की होती है। इस दौरान ये कमांडो स्टील बन जाते हैं।

 

 

6. रूस के किलर कमांडो स्पेत्सनाज़

दुनिया के टॉप कमांडो फोर्सेज की लिस्ट में रूस की स्पेशल फोर्सेज स्पेट्सनाज सबसे ऊपर है। ट्रेंड अल्फा ग्रुप स्पॉटस्नाज का हिस्सा है। यह सबसे खतरनाक और ट्रेंडी कमांडो ग्रुप है जिसे दुनिया में सबसे क्रूर और बेहतरीन माना जाता है।

ये आदेश इतने खतरनाक होते हैं कि ये सबसे कठिन परिस्थितियों में दुश्मन को हरा सकते हैं। ऐसा कहा जाता है कि इनके चंगुल में फंसा दुश्मन नहीं बचता। आतंकवादी भी इनसे डरते हैं। वे दुश्मन को मारने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं

 

रूस की सेनाओं ने द्वितीय विश्व युद्ध, विशेष मिशनों और हाई-प्रोफाइल हत्याओं में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

 

7. फ्रांसीसी विशेष बल GIGN

फ्रेंच स्पेशल फोर्सेज का नाम द नेशनल जेंडरमेरी इंटरवेंशन ग्रुप यानी GIGN है। इसका गठन 1973 में कट्टरपंथी आतंकवादियों और खतरनाक मिशनों को अंजाम देने के लिए किया गया था।

 

इसे फ्रांस की सबसे अच्छी ताकत कहा जाता है। फ्रांस में, GIGN Force का उपयोग आतंकवाद विरोधी अभियानों को सफलतापूर्वक करने के लिए किया जाता है। यह फोर्स आतंकियों के खिलाफ सटीक कार्रवाई करने में माहिर है।

 

 

8. पोलैंड का बेहद खास और शक्तिशाली कमांडो ग्रोम

पोलिश विशेष बलों को GROM के रूप में जाना जाता है। GROM का अर्थ “थंडरबोल्ट” है। इसे दुनिया की सबसे ताकतवर ताकत माना जाता है।

 

पोलैंड के GROM कमांडो आतंकवादियों और दुश्मन के खिलाफ सटीक और घातक हमलों के विशेषज्ञ हैं।

इस फोर्स का मुख्य काम आतंकियों को ढूंढना और उन्हें मारना है। पोलैंड की इस फोर्स में करीब 300 कमांडो हैं।

 

 

9. इतालवी शूटर कमांडो जीआईएस

इटैलियन स्पेशल फोर्सेज का नाम GIS (ग्रुप ऑफ इंटरवेंशन स्पेशल) है। इसके सबसे बड़े दुश्मन इटली के कट्टरपंथी आतंकवादी हैं।

जीआईएस कमांडो फोर्स पलक झपकते ही आतंकियों का सफाया कर देती है। इन्हें आतंकियों का जमाना माना जाता है।

 

इस बल का गठन 1978 में किया गया था। इटली के जीआईएस कमांड अपने सटीक लक्ष्यीकरण के लिए दुनिया भर में जाने जाते हैं। इनका प्रशिक्षण बहुत कठिन होता है।

 

10. ऑस्ट्रिया के खतरनाक कमांडो फोर्स ईकेओ कोबरा

ऑस्ट्रिया की कोबरा फोर्स भी दुनिया की सबसे ताकतवर कमांडो फोर्स में से एक है। उन्होंने हवा में विमान अपहरण को खत्म करके दुनिया भर में अपना नाम बनाया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *