लोगों ने जिसे समझा था कोई गांव की गवार, लेकिन वह निकली आईपीएस ऑफिसर लोगों के उड़े होश….

यह बात तो आपने पुरानी कहावतो मैं अवश्य ही सुनी होगी कि जब आप के दिन अच्छे आते हैं तो फिर आपने अपने जीवन में कितनी भी मुसीबतें देखे हो आपका समय बदल जाता है और आपके जीवन में अच्छे घटनाएं होनी शुरू हो जाती हैं लेकिन आज के समय में मॉडर्न ट्रेंड की वजह से लोगों ने अपने दिन से लिए में बहुत ज्यादा बदलाव कर दिए हैं और लोग समय के साथ अपने आप को बदलते चले जा रहे हैं जिसके चलते उन्होंने अपने पौराणिक कल्चर को मानो खत्म कर दिया है और दिखावे की दुनिया की और भागते जा रहे हैं।

पर आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से यह बताने वाले हैं कि राजस्थान की एक ऐसी महिला जो बिल्कुल साधारण से कपड़ों में रहती हैं और लोग उन्हें गवार समझते थे लेकिन वह असल में एक आईपीएस ऑफिसर हैं।

इस महिला का नाम है मोनिका यादव इन्होंने आईएएस ऑफिसर की अपने सपने को कुछ ही समय पहले हासिल किया है मोनिका यादव मूल रूप से राजस्थान के सीकर जिले के श्रीमाधोपुर तहसील दार के गांव लिसाड़िया की रहने वाली वहां एक मध्यम परिवार से बिलॉन्ग करती है आईएएस ऑफिसर मोनिका राजस्थान की परंपरा वेशभूषा पहनना ज्यादा पसंद करती है और उन्हें ज्यादा फैंसी कपड़े पहनना नहीं पसंद जिसकी वजह से कभी-कभी लोग कहते हैं पता चलता है कि एक आईएएस ऑफिसर है तो सबके होश उड़ जाते हैं और वह मुँह छुपाते फिरते हैं।

उन्होंने पूरे भारत देश का गौरव बढ़ाया है और हाल ही में आईएएस ऑफिसर मोनिका की एक छोटी सी बेटी ने जन्म लिया जिस पर सभी लोग उन्हें आजकल बधाइयां दे रहे हैं इस तरीके से आईएएस मोनिका अपनी संस्कृति और परंपराओं का पालन सच्चे देशभक्त होने का फर्ज अदा कर रही हैं और लोगों को हमेशा यही हिदायत देती हैं कि हमें अपनी पुरानी परंपराओं को भी याद रखना चाहिए नए कल्चर के साथ-साथ क्योंकि असल में हम नए चलन के चलते अपनी पुरानी परंपराओं को बोलते चले जा रहे हैं जो हमारे भविष्य के लिए अच्छी बात नहीं है।

+