समीर वानखेड़े को लेकर अमित शाह का बड़ा फैसला,चारो तरफ हो रही अमित शाह की तारीफ

हाल ही में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को एनसीबी के अधिकारी समीर वानखेड़े ने ड्रग मामले में पकड़ा था। समीर वानखेड़े ने आर्यन खान को पकड़ लिया और पिछले कई दिनों से आर्यन खान जेल में था, जो आखिरकार जाकर घंटी बजा चुका है।

 

वहीं समीर वानखेड़े पर पिछले कई दिनों से तरह-तरह के आरोप लगाए जा रहे हैं, जिसमें राजनीतिक दल एनसीपी के मंत्री नवाब मलिक ने भी उन पर कई आरोप लगाए हैं.

 

अगर आरोपों की बात करें तो समीर वानखेड़े पर आर्यन खान की रिहाई के लिए 8 करोड़ रुपये मांगने का आरोप लगाया गया है, इसके अलावा उन्होंने झूठी कास्ट दिखाकर डिग्री भी हासिल की है.उन पर इस तरह के आरोप भी लगाए गए हैं.

 

इस बीच, अब गृह मंत्रालय अमित शाह ने समीर वानखेड़े को जेड प्लस सुरक्षा प्रदान की है और अमित शाह के अनुरोध पर ये जेड प्लस सुरक्षा प्रदान की गई है।समीर वानखेड़े का समर्थन करने वालों ने इस फैसले का स्वागत किया है और अमित शाह की प्रशंसा की गई है। साथ ही जो लोग अमित शाह के खिलाफ हैं, उन्होंने इस फैसले की गलत व्याख्या की है।

 

कुछ लोग समीर वानखेड़े को बॉलीवुड विरोधी बताते हैं तो कुछ लोग उनके काम की तारीफ करते हैं, वहीं यह मुद्दा राजनीतिक मुद्दा बनता जा रहा है.

 

समीर वानखेड़े की मुश्किलें बढ़ीं

 

शनिवार को समीर वानखेड़े ने SC आयोग के उपाध्यक्ष अरुण हलधर से मुलाकात की। उन्हें उनकी अनुसूचित जाति से संबंधित होने का प्रमाण प्रस्तुत किया। अरुण हलधर का यह भी बयान आया कि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि समीर वानखेड़े ने अपना धर्म बदला है। लेकिन नवाब मलिक इस बात पर अड़े हैं कि समीर वानखेड़े मुसलमान हैं। उसने फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर आरक्षण का फायदा उठाकर आईआरएस की नौकरी छीन ली है।

 

नवाब मलिक ने अब एक नया ट्वीट करते हुए दावा किया है कि उन्होंने जो फोटो ट्वीट किया वह समीर वानखेड़े के साले का है। वे मुसलमान हैं। वे ऑस्ट्रेलिया में हैं। विस्फोट के डर से समीर वानखेड़े ने उन्हें भारत नहीं आने की धमकी दी है। महाराष्ट्र सरकार में सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे ने फर्जी जाति प्रमाण पत्र को लेकर बयान दिया है कि महाराष्ट्र सरकार शिकायत मिलने के बाद मामले की जांच करेगी.

 

+