2 स्कूल के बच्चों के बैंक खाते में आए 960 करोड रुपए बैंक की गलती से,अब बच्चे कह रहे हैं हम नहीं…………

वर्तमान समय में पूरे भारत देश में धीरे धीरे डिजिटल होने की प्रक्रिया जारी है हर जगह धीरे-धीरे सभी कार्य ऑनलाइन होते जा रहे हैं और सरकार भी ऑनलाइन पेमेंट को बढ़ावा देती चली जा रही है इसी बीच नरेंद्र मोदी का यह सपना है कि पूरा भारत देश डिजिटल हो जाए और तरक्की की राह पर अग्रसर रहें लेकिन गलती एक ऐसी सामने आई है जिसके बाद बैंक की गलती की वजह से बिहार के रहने वाले दोस्तपुर के छात्रों के बैंक अकाउंट में 960 करोड रुपए चले गए जब यह जानकारी आस-पास के गांव वालों को पता चली तो वहां पर लोग इस बात पर यकीन नहीं मान रहे थे क्योंकि यह रकम इतनी ज्यादा थी।

बैंक अधिकारी ने बताया असली हकीकत

जब बैंक अधिकारी को इस बात के बारे में पता चला कि स्कूल के दो मासूम बच्चों के बैंक अकाउंट में 960 करोड़ रुपए पहुंच गए हैं तो इस विषय में बैंक ने तुरंत छानबीन के लिए एक कमेटी गठित की और इस विषय में छानबीन शुरू कर दी। बिहार सरकारी स्कूल के ड्रेस के लिए भेजे जाने वाले पैसों की जानकारी के लिए दो स्कूली छात्रों को एसबीआई के सीएससी सेंटर भेजा गया था जहां पर निकल कर आई थी यह खबर की दो छोटे बच्चों के अकाउंट में करोड़ों रुपए आ गए हैं और उसके पीछे बैंक की गलती है हिंदू बच्चों का नाम बताया जा रहा है गुरु चंद्र और अजीत कुमार जब उनका खाता खंगाला गया तो बात मालूम पड़ी थी अजीत कुमार के खाते में मात्र ₹100 हैं जबकि दूसरे बच्चों के खाते में ₹128 बरामद हुए और बैंक कर्मी ने बताया यह बात पूर्ण रूप से गलत है और इस बात में कोई भी सचाई मौजूद नहीं है।

बैंक अधिकारी ने दोनों स्कूली छात्रों का बैंक अकाउंट चेक किया तो उसे यहां मालूम पड़ा कि यह बात बिल्कुल गलत है सीएसपी सेंटर में अगर इनके खातों में इतने रुपए दिए गए होते तो टेक्निकल एरर की वजह से ही ऐसा संभव है लेकिन अभी तक ऐसी कोई खबर सामने नहीं आई है ऐसे मामले काफी बार हो चुके हैं जब बैंक खातों में टेक्निकल के चलते लोगों के अकाउंट में गलती से लाखों करोड़ों रुपए आते हैं और यह मामला कोई नया नहीं है आज के समय में।

+