यूपी में 55 वर्ष की महिला ने गांव में सड़क बनाने के लिए बेचा अपने घर का कुछ हिस्सा

उत्तर प्रदेश के दादरी में दादोपुर खटाना की रहने वाली 55 वर्षीय राजेश देवी ने 250 मीटर लंबी सड़क को पक्का करने के लिए अपने स्वयं के पैसे से लगभग 1 लाख रुपये खर्च किए, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि उसके गांव का कोई और व्यक्ति ऐसे दुर्भाग्य से ना मिले जैसे उसके साथ हुआ|

55 वर्षीय महिला ने सड़क की स्थिति सुधारने के लिए बेचा अपने घर का कुछ हिस्सा

सडकों की ख़राब स्थिति की वजह से एक बार सड़क पर चलते समय राजेश देवी के सिर में चोट लग गई। और अधिकारियों द्वारा दिखाई गई प्रतिक्रिया की कमी से मोहभंग होने के बजाय, देवी और उनके परिवार के सदस्यों ने मामलों को अपने हाथों में ले लिया।

उनके बेटे सुधीर ने सड़क की स्थिति सही करने के लिए कुछ निजी ठेकेदारों से बातचीत की और यह सुनिश्चित किया की इन सडकों की स्थिति में सुधार आएगा| ताकि कोई भी कभी इन सडकों की ख़राब स्थिति की वजह से कभी किसी दुर्घटना का शिकार न हो|

अधिकांश अधिकारियों से तंग आकर लिया यह कार्य अपने हाथों में

जब राजेश देवी ने अधिकारियों से सडकों की मरम्मत करने की मांग की तो आधिकारिक उदासीनता क्रूर नहीं तो चौंकाने वाली है। अपने दिए गए इंटरव्यू में राजेश देवी कहती हैं, “मैं स्थानीय अधिकारियों और उनकी नीतियों से तंग आ चुकी हूं। उनके अधिकांश अधिकारियों का अमीर और गरीब के प्रति अलग-अलग रवैया है। हम गांव में खराब सड़कों के मुद्दे को उठाने के लिए विभिन्न ब्लॉक बैठकों और लिखित पत्रों में गए हैं, लेकिन केवल उन हिस्सों का निर्माण या मरम्मत की जाती है जो अमीर लोगों के घरों की ओर जाते हैं।

इसीलिए अधिकांश अधिकारियों पर इस मामले को लेकर निर्भर रहने की बजाय राजेश देवी ने यहां कार्य अपने ही हाथों में ले लिया| इस काम को करवाने की लिए उन्होंने अपनी ज़मीन का कुछ हिस्सा भी बेच दिया, ताकि सड़क पर चलते सभी लोगों को कोई दिक्क्त ना हो, और वे कभी किसी हादसे का शिकार न बने|

+