60 लाख रुप्पे कर्ज लेकर शुरू किया था “बांस से फर्नीचर बनाने का बिजनेस ” अब बन चुके हे करोड़पति …….

पुरानी कहावत है कि कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होता बस आप इज्जत से उस कार्य को करें यही काफी होता है इसी प्रकार से आज हम आपको एक कहानी सुनाने वाले हैं जिसमें एक व्यक्ति ने केवल 60 लाख का लोन लेकर एक ऐसे कार्य की शुरुआत करें इसके बारे में कोई सोच भी नहीं सकता तो आज भाई इतने बड़ी कंपनी के मालिक बन चुके हैं और करोड़ों में खेलते हैं और इसके साथ ही साथ अपने जीवन में तो सुधार ला ही चुके हैं इसके साथ करोड़ों और नौजवानों को रोजगार खोलने का अवसर दे रहे हैं और उन्हें भी रोजगार दे रहे हैं और उनके जीवन में भी सुधार लाने का प्रयत्न कर रहे हैं। उन्होंने केवल 60 लाख का लोन लेकर बांस के फर्नीचर बनाने का बिजनेस शुरू करा था जो आज इतना बड़ा बन चुका है जिसके आप कभी कल्पना भी नहीं कर सकते।

माता-पिता नहीं थे तैयार

घर आने के बाद दोनों ने सारी कहानी अपने माता-पिता को बताई। कहा कि वह भी चाहते हैं कि बांस के इस काम में हाथ आजमाए। लेकिन माता-पिता ने इसे फिजूल काम बताकर सिरे से खारिज कर दिया। ऐसे में पति-पत्नी ने इसका एक और रास्ता निकाला। एक योजना के तहत दोनों पति-पत्नी फॉरेस्ट स्टडी टूर (Forest study tour) पर निकल गए। इस दौरान दोनों ने जाना कि भारत में इसका कारोबार बड़ा है। साथ ही इससे बहुत से लोगों को रोजगार देने में भी मदद मिल सकती है।

2008 में शुरू किया काम

दैनिक भास्कर (Dainik bhaskar) समाचार पत्र के मुताबिक इन दोनों ने मिलकर साल 2008 में इस योजना पर काम शुरू कर दिया। काम में तेजी आए इसके लिए इन्होने बैंक से 60 लाख रूपये लोन भी लिया। साथ ही आंध्र प्रदेश (Andhra pradesh) में आज ग्रामीण लोगों और आदिवासियों के लिए ट्रेनिंग (Training) की भी व्यवस्था की है। जिससे जुड़कर वह भी इस काम को सीख सकते हैं।

शुरुआत भले ही कठिन दौर से हुई पर आज नतीजे सबके सामने। ये लोग बांस के इस काम से आज अपना घर तो चला ही रहे हैं साथ ही बहुत से लोगों को रोजगार भी दे रहे हैं। बांस के फर्नीचर को बनाने और प्रकृति से जुड़ाव के लिए ‘Awesome gyan’ इन पति पत्नी को सलाम करता है।

+