हरभजन सिंह ने लिया क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से “संन्यास”, ट्वीट कर दी भावुक जानकारी

अभी कुछ ही समय पहले की बात है हरभजन सिंह ने ट्वीट करके जानकारी दी कि वह सभी फॉर्मेट से संन्यास ले रहे हैं इसके साथ ही उनके 23 साल के कैरियर का समापन हुआ जिसके बाद से ही सोशल मीडिया पर उनकी तारीफ करी जा रही है और उनके द्वारा दिए गए योगदान की मिसाले पेश करी जा रहे हैं आप सभी लोगों को पता ही होगा कि हरभजन सिंह क्रिकेट जगत का बहुत ही जाना पहचाना नाम है और वहां उन चुनिंदा स्पिनर्स में से एक हैं जो कि इतने लंबे समय तक खेलते आए और अपना अच्छे प्रदर्शन के साथ कई मैच सिंगल हैंडेड होकर जीता है और अपनी टीम को जीत के मुहाने तक ले गए।

कुछ लोगों का मानना यह भी था कि वह शायद सन्यास ना लें और आईपीएल में अभी भी खेलते रहें लेकिन उन्होंने सभी जगह से सन्यास ले कर एक नए तरीके से अपने करियर की शुरुआत करने का निर्णय लिया है जिसके बारे में हम आप सभी लोगों को आगे बताने वाले हैं कि आखिर किस प्रकार से वह भविष्य में आगे बढ़ेंगे और किस प्रकार से आपको एक नए रूप में खेलते हुए नजर आएंगे या फिर नहीं तरीके से टीवी पर आप सभी को देख सकते हैं।

शुरुआत कर सकते हैं बतौर कोच अपनी नई पारी की

कयास लग रहे हैं कि हरभजन सिंह अगले IPL सीजन के लिए किसी एक टीम के साथ बतौर कोच या मेंटर जुड़ सकते हैं । गौरतलब है कि हरभजन सिंह ने भारत के लिए अपना आखिरी इंटरनेशनल मुकाबला साल 2016 में UAE के खिलाफ एशिया कप टी-20 में खेला था । हरभजन पिछले IPL सीजन में कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ जुड़े थे । ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह पिछले IPL मे सिर्फ 3 मुकाबले खेल पाए थे जिसमें से उन्हें एक भी मुकाबले में सफलता नहीं मिली ।

इस बार के आईपीएल ऑक्शन में निभाएंगे खास भूमिका

कुल टेस्ट: 103, विकेट: 417
कुल वनडे: 236, विकेट: 269
कुल टी-20: 28, विकेट: 25

हरभजन सिंह ने पहला टेस्ट 1998 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था । जबकि आखिरी टेस्ट 2015 में श्रीलंका के खिलाफ खेला था । वहीं पहला वनडे 1998 में न्‍यूजीलैंड के खिलाफ खेला था, जबकि आखिरी वनडे साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2015 में खेला था । भज्‍जी का पहला टी-20 2006 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ था । जबकि आखिरी  2016 में यूएई के खिलाफ । हरभजन के संन्‍यास के बाद उनका सोशल मीडिया अकाउंट उनके आगे के करियर की शुभकामनाओं से भरा हुआ है ।

हरभजन सिंह ने अपनी गेंदबाजी तथा बल्लेबाजी के साथ भारतीय टीम को जो योगदान दिया वह हमें हमेशा याद रहेगा क्या कि किस प्रकार से उन्होंने अग्रेशन में आकर कितने मैच जीता है और किस प्रकार से अपने दिमाग की रणनीति के कारण भारत को इतनी अच्छी गेंदबाजी करके दी इसके साथ ही भारतीय टीम के हर एक खिलाड़ी इन की काफी इज्जत करता है और इनके रिटायरमेंट की खबर सुनते ही सब ने सोशल मीडिया पर उनको काफी सारी बधाइयां दी और उनकी काफी ज्यादा सराहना करी।

Leave a comment

Your email address will not be published.