मेरठ के कबाड़ियों पर हुई कार्यवाही, घरों में बनाए हुए गोदाम, चोरी की पार्ट्स मिले

मेरठ के सोतीगंज में कबाड़ियों ने अपने घरों में भी गोदाम बनाए हुए हैं। यहां भी चोरी और लूट की गाड़ियों के इंजन मिले हैं। सोतीगंज में पुलिस की कार्रवाई जारी है। पुलिस ने गुरुवार को कार्रवाई के दौरान 100 से अधिक इंजन और गाड़ियों के पार्ट्स बरामद किए हैं। इन्हें सदर थाने में लाया गया है। इसके अलावा तीन लोगों को हिरासत में भी लिया गया है।

उधर, कबाड़ियों के परिवार की महिलाओं ने जमकर हंगामा किया। इस विरोध के बावजूद पुलिस ने 10 गोदाम सील किए हैं। पुलिस की जांच में अभी तक 26 इंजन चोरी की गाड़ी के बताए गए हैं। पुलिस टीम को देखकर कई कबाड़ी घर और गोदाम छोड़कर भाग गए। कई कबाड़ियों पर केस दर्ज किया गया है। बताया गया कि गुरुवार सुबह 10 बजते ही दो-दो पुलिसकर्मी कबाड़ियों के गोदाम पर खड़े हो गए थे। करीब 10:15 बजे एएसपी कैंट सूरज राय पुलिस फोर्स को लेकर सोतीगंज में पहुंच गए। एएसपी ने सोतीगंज के कबाड़ियों की सूची बनाई थी

वहीं मन्नू उर्फ मुईनुद्दीन, नवाब शरीफ, वाहिद समेत 14 शातिर कबाड़ियों के गोदाम पर पुलिस फोर्स पहुंची। गोदाम पर गाड़ियों के जो इंजन और पार्ट्स पुलिस को मिले, उसको पुलिस टाटा मैजिक में रखकर थाने ले गई। 14 कबाड़ियों के गोदाम पर चेकिंग के बाद पुलिस टीम उनके घर पर पहुंची।

पुलिस ने घर पर मौजूद महिलाओं से पूछा कि यहां कोई गाड़ी का सामान रखा है या नहीं। इस पर महिलाओं और उनके बच्चों ने मना कर दिया। उसके बाद पुलिस ने घरों की तलाशी ली, जहां पर बड़े-बडे़ शटर लगाकर गोदाम बनाए थे। वहां पर काफी संख्या में इंजन और पार्ट्स मिले हैं। कबाड़ी नवाब शरीफ के परिवार की महिलाओं ने हंगामा कर दिया। आरोप लगाया कि पुलिस उनका उत्पीड़न कर रही है। वह एक नंबर में गाड़ियों का कटान करते हैं। पुलिस ने इंजन और पार्ट्स के कागज मांगे तो वह जवाब नहीं दे पाए। उसके बाद पुलिस ने वहां से भी सामान उठवाकर थाने में भिजवाया। दिनभर पुलिस की सोतीगंज में छापेमारी चलती रही, जिसको लेकर कबाड़ियों में खलबली मची रही।

तीन दिन से सादे कपड़ों में सर्च कर रही थी पुलिस

सोतीगंज में कबाड़ियों पर कार्रवाई से पहले पुलिस टीमें तीन दिन से सादे कपड़ों में सर्च कर रही थी। कौन से कबाड़ी के गोदाम में गाड़ी के इंजन और पार्ट्स है, इसकी जानकारी लेने के बाद यह कार्रवाई की गई। गाड़ियों के इंजन थाने ले जाने पर कुछ कबाड़ियों ने आपत्ति की। बताया गया कि सभी कबाड़ियों से जवाब मांगा है कि जो इंजन या पार्ट्स उनकी दुकान व गोदाम में मिले हैं, उनका रिकॉर्ड दें।

पांच टीम बनाकर की कार्रवाई

एएसपी कैंट ने पुलिस की पांच टीम बनाई थी। पुलिस टीम ने अलग-अलग जगह पर एक साथ चेकिंग की। पता चला है कि सोतीगंज में खुद को दुकानदार बताने वाले अधिकतर कबाड़ी चोरी और लूट के वाहनों को काटकर उनके पार्ट्स बेचने का काम करते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.