यू.पी. : जानिये क्या हुआ जब नहीं पढ़ पाया दूल्हा बिना चश्मे के अखबार

खबर उत्तर प्रदेश के औरैया जिले की है, जहां अंतिम समय में एक शादी को रद्द कर दिया गया जब दुल्हन को पता चला कि उसके दूल्हे की आंखों की रोशनी कम है और वह अपने चश्मे के बिना अखबार नहीं पढ़ सकता है।

नहीं पढ़ सका बिना चश्मे के अख़बार तो दुल्हन ने रद्द करी उसी वक़्त शादी

उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में एक महिला ने आखिरी समय में अपनी शादी तब रद्द कर दी जब उसे एहसास हुआ कि उसके दूल्हे की आंखों की रोशनी कम है और वह अपने चश्मे के बिना अखबार नहीं पढ़ सकता है। सदर कोतवाली क्षेत्र के जमालपुर गांव के रहने वाले अर्जुन सिंह ने अपनी बेटी अर्चना की शादी बंशी गांव के शिवम नाम के शख्स से तय की थी| सिंह ने अपनी बेटी की शादी शिवम के साथ तय की क्योंकि वह एक ‘शिक्षित लड़का’ था|

परिवार ने माँगा दिया हुआ दहेज़ वापिस तो दूल्हा पक्ष ने किया इंकार

शादी की तारीख फाइनल हो चुकी थी और सारी तैयारियां चल रही थीं। शगुन सेरेमनी भी हुई। दुल्हन के परिवार ने दूल्हे को मोटरसाइकिल भेंट की।शादी के दिन शिवम अपनी बारात लेकर अर्चना के घर पहुंचा। शादी के दिन दूल्हे को पूरे समय चश्मा पहने देखा गया था। इससे दुल्हन को लगा कि उसकी नजर कमजोर है। उसी की पुष्टि करने के लिए उसने उसे बिना चश्मे के एक हिंदी अखबार पढ़ने के लिए कहा। जब वह ऐसा करने में नाकाम रहा तो अर्चना ने शादी रद्द कर दी। वह किसी कमज़ोर दृष्टि वाले व्यक्ति से शादी नहीं करना चाहती थी। उसके परिवार ने उसके फैसले का सम्मान किया और शादी रद्द कर दी गई।

शादी रद्द होने के बाद दुल्हन के परिवार ने मांग की कि दहेज के रूप में दी गई नकदी और मोटरसाइकिल शादी पर खर्च किए गए पैसे के साथ उन्हें वापस कर दी जाए। हालांकि दूल्हे के परिवार ने मना कर दिया। इसलिए महिला के परिवार ने दूल्हे और उसके परिजनों के खिलाफ औरैया कोतवाली थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी|

Leave a comment

Your email address will not be published.