केनेडा के वैज्ञानिको ने बनाया मौत कि तारीक बताने वाला कैलकुलेटर, कैसे करे इस्तेमाल ?

पूरी दुनिया में एक ऐसा सवाल है जिसका जवाब हर कोई जानना चाहता है। और वोह सवाल है कि मेरी मौत कब होगी ? हर व्यक्ति जानना चाहता है कि वह कब मरेगा और अब इस दुनिया के विज्ञानिको ने एक ऐसा कैलकुलेटर बना किया है जो किसी भी व्यक्ति की मौत का दिन की भविष्यवाणी कर सकता है।

इस को लेकर एक बहुत बड़ी रिपोर्ट कैनेडियन मेडिकल जर्नल में छप्प गयी है। हम उस रिपोर्ट की खास बाते बताएंगे आपको। सबसे पहली बात यह है आखिर इस आविष्कार की ज़रूरत क्यों महसूस हुई। जिस वैज्ञानिक ने यह बनाया है उसका कहना है कि हमारा मकसद सिर्फ इतना है कि अगर हम किसी व्यक्ति को अंदाजा दे सके कि उसकी मौत कि तरीक इतनी होगी तो वह अपनी अंतिम तरीक से पहले अपनी मन माफिक ज़िंदग जी सकता है, जो काम वह पूरे करना चाहता है वह पूरे कर सकता है।

 

उस खबर का कहंना है कि इस कैलकुलेटर का नाम रिस्क इवैल्यूएशन फॉर सपोर्ट है और यह बड़े जीवन समुदाय के लिए भविष्यवाणी करेगा। इस आविष्कार पर करीब पिछले सात सालो से काम चल रहा था। इस डिवाइस में लोगो के बारे में जानकारी ली गयी और फिर उनके जीवन के कारन लिए गए कि वह कैसे व्यतीत कर रहे है और फिर उन सब चीजों के आधार पर यह बनाया गया। लोगो ने अपनी स्वस्थ कि परिस्तिथिया भी बताई अगर उन्हें भूतकाल में कोई बिमारी या शारीरिक परेशानी हुई हो।

और फिर सारी जानकारी बटोरने के बाद ही यह उपकरण बता पायेगा कि आप और कितने साल जीवित रह सकते है। इस कैलकुलेटर के हिसाब से अगर भूक काम होती है, वजन काम होता है, सूजन आती है, और बहुत ताब्यात ख़राब होती है तो यह सब लक्षण मौत के आने के होते है।

डाक्टर एमी हसु के हिसाब से जो कि यूनिवर्सिटी ऑफ़ ओटावा और बेयर रिसर्च ऑफ़ कनाडा के जांचकर्ता है, अगर लोगो को पता चल जाये कि उनका अंतिम समय कितना निकट है तो वह अपने परिवार के साथ ढंग से समय बिता पाएंगे और अपने आखिरी समय में अपने परिवार के साथ रह पाएंगे।

+