यू.पी. : पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का अंतिम संस्कार आज नरोरा में गंगा तट पर

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का अंतिम संस्कार आज दोपहर 3 बजे बुलंदशहर के नरोरा घाट पर होगा| अंतिम संस्कार का जुलूस लखनऊ के महारानी अहिल्याबाई होल्कर स्टेडियम से सुबह नौ बजे शुरू हो चुका है। कल्याण सिंह का अंतिम संस्कार जुलूस डिबाई के अतरौली से होकर जाएगा।

आज होगा पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का अंतिम संस्कार

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल और वीके सिंह, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान और अन्य नेताओं ने अतरौली में पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को अंतिम श्रद्धांजलि दी। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा “बाबूजी का निधन भाजपा के लिए एक बड़ी क्षति है। उनके द्वारा छोड़े गए शून्य को भरना मुश्किल होगा। राम मंदिर के शिलान्यास समारोह के बाद उन्होंने कहा था कि उनके जीवन का उद्देश्य पूरा हो गया है। उन्होंने राम जन्मभूमि आंदोलन के लिए अपना मुख्यमंत्री का पद तक त्याग दिया था|

कल्याण सिंह का पार्थिव शरीर रविवार की शाम लखनऊ के महारानी अहिल्याबाई होल्कर स्टेडियम में रखा गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर के साथ एयर एंबुलेंस में गए थे। अलीगढ़ से भाजपा सांसद सतीश गौतम ने समाचार एजेंसी आईएएनएस को बताया कि, “अंतिम संस्कार सोमवार सुबह नौ बजे स्टेडियम से शुरू होगा। अतरौली में कुछ देर रुकने के बाद यह दिबाई पहुंचेगा जहां दोपहर करीब तीन बजे अंतिम संस्कार किया जाएगा।”

कल्याण सिंह के एक करीबी सहयोगी चंद्रपाल सिंह ने कहा, “उन्होंने हमेशा डिबाई के बजाय अतरौली को चुना, लेकिन अलीगढ़ को उनकी ‘जन्मभूमि’ और बुलंदशहर को उनकी ‘कर्मभूमि’ बताया। इसलिए, उनका अंतिम संस्कार दीबाई में किया जा रहा है।”

पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के अंतिम संस्कार में शामिल हो सकते हैं करीब पांच लाख लोग

मिली हुई जानकारी के मुताबिक पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के अंतिम संस्कार में करीब पांच लाख या उससे ज्यादा लोगों के शामिल होने की उम्मीद है। जबकि श्मशान स्थल जहां कल्याण सिंह के शरीर का अंतिम संस्कार किया जाएगा, वहां 3000 लोगों को समायोजित करने की क्षमता है, व्यवस्थाओं में शामिल स्थानीय नेताओं ने कहा कि आस-पास के क्षेत्र बड़ी भीड़ को समायोजित करने में सक्षम होंगे। दाह संस्कार से पहले दिवंगत नेता के पार्थिव शरीर को पवित्र गंगा में स्नान कराया जाएगा।

+