यूपी : विदेशों से आ रही भड़काऊ कॉल, केंद्रीय एजेंसियां के साथ मिलकर यूपी एटीएस भी कर रही है जांच

जानकारी के मुताबिक विदेशों से आ रही भड़काऊ फोन कॉल को लेकर सुरक्षा एजेसियां हलकान हैं। यह 56 सेकेंड लम्बी रिकार्डेड कॉल है, और इसमें देश के अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्रियों को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर झंडा न फहराने देने की धमकी दी जा रही है। यह पता लगाने के लिए की कॉल कहाँ से आ रही है केंद्रीय एजेंसियां इस काम में जुटी हैं, और साथ ही में यूपी एटीएस को भी इस मामले की जांच सौंपी गई है।

आ रही हैं भड़काऊ फ़ोन कॉल, केंद्रीय एजेंसियां वा यूपी एटीएस कर रहे हैं जांच

सूत्रों से पता चला है की पंजाब के सिख फार जस्टिस के घोषित आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू की ओर से वीओआईपी कॉल की जा रही है, और इस कॉल में न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और यूएस के नंबरों को इस्तेमाल किया जा रहा है। वर्तमान में पन्नू का लोकेशन कनाडा में बताया जा रहा है। पिछले महीने जब खालिस्तान के लिए जनमत संग्रह की कॉल आ रही थी, इस कॉल के पीछे भी पन्नू का हाथ बताया जा रहा है ।

पूरे मामले की जांच पहले साइबर क्राइम को सौंपी गयी थी, जिसमें साइबर क्राइम के एडीजी राम कुमार ने बताया की पन्नू का मकसद देश-प्रदेश का माहौल खराब करना है। उन्होंने यह भी बताया कि क्योंकि पन्नू फोन कॉल विदेशों में बैठ कर इंटरनेट के जरिए कर रहा है, इसीलिए उसको पकड़ पाने में मुश्किल आ रही है।

यू.पी. एटीएस भी कर रही है पूरे मामले की जांच

सूत्रों से पता चला है की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को 15 अगस्त के मौके पर तिरंगा न फहराने देने की धमकी के मामले की जांच यूपी एटीएस भी कर रही है। एटीएस के आईजी जीके गोस्वामी ने बताया कि प्रदेश में हजारों लोगों के पास इस तरह की काल आ रही है, और वह दिन रात एक करके पता लगा रहे हैं की आखिर ये कॉल आ कहाँ से रही हैं| पिछले वर्ष भी 15 अगस्त के अवसर पर इस प्रकार की धमकी भरी फ़ोन कॉल आयी थी| उस वक़्त भी पन्नू का नाम ही सामने आया था|

 

Leave a comment

Your email address will not be published.