नौकरी के साथ साथ मनीष कुमार ने पूरा किया अपना आईएएस बनने का सपना, जानें क्या स्ट्रेटेजी अपनाई

अक्सर हमने देखा है, की बहुत से लोग यूपीएससी का सपना जब देखते हैं, तो वे सब कुछ छोड़ देते हैं, और घंटों पढ़ाई करते हैं| लेकिन आज हम आपको ऐसे शख्श की कहानी बताने जा रहे हैं, जिन्होंने यूपीएससी की तैयारी करते वक़्त अपनी नौकरी नहीं छोड़ी, और नौकरी करते करते ही अपनी तैयारी के लिए समय निकला, और AIR 61 प्राप्त कर अपना सपना पूरा किया| आइये जानते हैं आईएएस मनीष कुमार की कहानी|

नौकरी के साथ साथ शुरू की यूपीएससी की तैयारी, जानें आईएएस मनीष कुमार की कहानी

आईएएस ऑफिसर बनना कोई आसान सफर नहीं है। इसके लिए परम लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए पूर्ण तरह से समर्पित होना पड़ता है| आज हम आपको बताने जा रहे हैं आईएएस मनीष कुमार के बारे में। मनीष कुमार वर्मा उन उम्मीदवारों में से एक हैं जिन्होंने पेशेवर के रूप में काम करते हुए आईएएस परीक्षा पास की है|

जब उन्होंने यूपीएससी परीक्षाओं की तैयारी शुरू की तो वे ड्यूश बैंक नामक एक निवेश बैंकिंग फर्म में एक पेशेवर थे। उन्होंने देश के सबसे प्रतिष्ठित संस्थानों में से एक ‘भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कानपुर’ से केमिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की पढ़ाई पूरी की थी।

आईएएस मनीष कुमार की सफल होने की रणनीति

मनीष का मानना ​​है कि काम करते हुए यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करना मुश्किल नहीं है। मनीष एक बैकअप के रूप में अपना काम जारी रखना चाहते थे और आईएएस परीक्षा के लिए अपनी तैयारी शुरू की। मनीष का मानना ​​है कि केवल तैयारी ही महत्वपूर्ण नहीं है बल्कि सही दिशा में तैयारी करना भी महत्वपूर्ण है। यही कारण है कि वह एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करते हुए यूपीएससी परीक्षा को पास करने में सफल रहे।

मनीष कुमार की आईएएस यात्रा ने हमें सिखाया है कि आईएएस परीक्षा को पास करना आसान नहीं है। प्रतिष्ठित परीक्षा को पास करने के लिए आपको कड़ी मेहनत और स्ट्रेटेजी बनाने की ज़रूरत होती है। मनीष कुमार जैसे आईएएस अधिकारी आईएएस परीक्षा को पास करने में सक्षम होते हैं क्योंकि उनके पास एक स्पष्ट फोकस और दृष्टि होती है।

+