यू.पी. : जानें क्या हुआ जब किसी और के टिकट पर बरेली गया शख्स

जाली दस्तावेजों का उपयोग करके मुंबई हवाई अड्डे की कड़ी सुरक्षा जांच को पार करते हुए, 36 वर्षीय एक व्यक्ति अपने दोस्त के नाम पर जारी टिकट पर यूपी के बरेली हवाई अड्डे पर उतरा| दरअसल उसका दोस्त बीमार हो गया था, जिस वजह से उसने अपनी यात्रा रद्द कर दी थी| उसी का टिकट और फर्जी दस्तावेज के साथ यह बरैली पहुंचा|

दोस्त के टिकट और फर्जी दस्तावेजों के साथ बरैली गया शख्श, पकड़ा गया

36 वर्षीय असलम इस्माइल लाला को तब पकड़ा गया जब वह उन्ही दस्तावेजों का इस्तेमाल कर वापिस मुंबई जा रहा था| असलम लाला ने अशफाक नवाब शेख बनने के लिए अपने पैन और आधार कार्डों में भी फर्जीवाड़ा किया था| इसके बाद लाला को बरेली पुलिस के हवाले कर दिया गया|

पूछताछ के दौरान उसने शेख के यात्रा पास का इस्तेमाल करने के लिए जाली दस्तावेज बनाने की बात स्वीकार की। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने लाला की साख को सत्यापित करने के लिए मुंबई में अपने समकक्षों से संपर्क किया। मुंबई के अधिकारी भी मामले की जांच शुरू की।
प्रारंभिक जांच के बाद, उन्होंने पाया कि मुंबई के अंधेरी निवासी शेख और तीन अन्य लोगों ने बरेली के एक प्रसिद्ध दरगाह में एक सूफी संत के उर्स में शामिल होने के लिए फ्लाइट टिकट बुक किया था।

फर्जी दस्तावेज बनाने के अपराध में हुआ है लाला पर मामला दर्ज

“हालांकि, उनकी यात्रा से एक दिन पहले, शेख बीमार पड़ गए और उन्होंने ना जाने का फैसला किया। चूंकि टिकट नॉन-रिफंडेबल थे, इसलिए नवी मुंबई के निवासी असलम लाला को शेख के बोर्डिंग पास पर ले जाने का निर्णय लिया गया। शेख ने अपने पैन और आधार कार्ड साझा किए, जिन्हें स्कैन करके लाला की तस्वीर के साथ एक समान कॉपी तैयार की गई थी, ”एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा।

एसएसपी सजवान ने बताया, “हमने पूरी जांच की है और पाया है कि लाला बरेली में एक उर्स में शामिल होने के लिए शेख के नाम से बुक किए गए फ्लाइट टिकट पर आया था। चूंकि शेख ने चिकित्सा कारणों से यात्रा से अपना नाम वापस ले लिया था, इसलिए समूह नहीं चाहता था कि टिकट बेकार हो क्योंकि वे वापस नहीं किए जा सकते थे। फिर लाला ने जाली दस्तावेज बनाए, जो एक अपराध है। उस पर आईपीसी की धारा 420 (धोखाधड़ी), 467 (दस्तावेज बनाना), 468 (धोखाधड़ी के उद्देश्य से जालसाजी करना), 471 (बेईमानी से जाली दस्तावेजों का असली इस्तेमाल करना) की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।”

 

+