यू.पी.: ओलम्पियन गुरजीत और निशा को मिला प्रमोशन, एनसीआर मुख्यालय में दोनों बनीं ओएसडी स्पोर्टस 

भारतीय महिला हॉकी टीम की दो खिलाड़ी गुरजीत कौर और निशा वारसी, जिन्होंने टोक्यो ओलंपिक में इतिहास रचा, संगम नगरी प्रयागराज में रेलवे में काम करती हैं। दोनों ही अभी तक वरिष्ठ लिपिक के पद पर तैनात थे, लेकिन इनके शानदार प्रदर्शन के बाद रेलवे इन्हें अधिकारी बनाने की प्रक्रिया में था, जो अब पूरी हो चुकी है, और इन दोनों को ओएसडी के पद पर तैनात कर दिया गया है|

ओलम्पियन गुरजीत और निशा को मिला प्रमोशन, होंगी ओएसडी के पद पर कार्यरत

ओलंपियन गुरजीत कौर और निशा वारसी का प्रमोशन आर्डर बतौर ओएसडी मंगलवार को जारी किया जा चुका है। टोक्यो ओलंपिक में इनके शानदार प्रदर्शन के बाद जब ये पहली बार प्रयागराज पहुंचे थे तो इनका भव्य स्वागत हुआ था और इनके आगमन पर ही जीएम एनसीआर प्रमोद कुमार ने दोनों खिलाड़ियों को गजटेड अफसर बनाने की घोषणा कर दी थी, जिसके बाद उनके प्रमोशन का कार्य शुरू हो गया था|

अब ये प्रक्रिया पूरी हो चुकी है और अब ये दोनों ही खिलाड़ी प्रयागराज मंडल की जगह उत्तर मध्य रेलवे मुख्यालय में विशेष कार्य अधिकारी (ओएसडी ) स्पोर्टस के पद पर कार्य करेंगी। गजटेड अफसर के तौर पर गुरजीत कौर ओएसडी स्पोर्टस-1 और निशा वारसी ओएसटी स्पोर्टस-2 के पद पर काम करेंगी।

ओलम्पियन गुरजीत और निशा ने कहा हॉकी का है देश में अच्छा भविष्य

दोनों ही अपने प्रमोशन से बहुत खुश हैं| उनका प्रदर्शन टोक्यो ओलंपिक्स में इतना शानदार था की उन्हें आउट ऑफ़ टर्न प्रमोशन मिल रहा है, और अब दोनों ही ओएसडी के पद पर कार्यरत होंगी| खास बात यह है कि इन दोनों ही खिलाड़ियों की पदोन्नति आदेश 8 अगस्त 2021 से ही प्रभावी मानी जाएगी।

गुरजीत और निशा ने बताया कि ओलंपिक में भारतीय महिला हॉकी टीम के शानदार प्रदर्शन के बाद लड़कियों में राष्ट्रीय खेल हॉकी के प्रति जबरदस्त क्रेज देखने को मिल रहा है, और ऐसा लगता है कि महिला हॉकी का देश में बहुत अच्छा भविष्य है और देश निश्चित रूप से आगामी ओलंपिक और अन्य अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं में भी बेहतर प्रदर्शन के साथ पदक जीत सकेगा।

+