पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा बॉलीवुड की नक़ल करना छोड़ दो…

बॉलीवुड पर अक्सर यह इलज़ाम लगते रहे है कि वह पाकिस्तानी कलाकारों कि काफी हिमायत करते है उन्हें बहुत मौके देते है। अब सरहद से आया एक बड़ा बयान बॉलीवुड के आगे एक बड़ा सवाल खड़ा कर रहा है। यह बयान दिया है पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने, जिन्होंने साफतौर पर यह कहा है कि पाकिस्तान की फिल्म इंडस्ट्री बॉलीवुड की नक़ल करना छोड़ दे और उन्होंने यह भी कहा कि शुरू में पाकिस्तानी फिल्म इंडस्ट्री से काफी गलतिया हुई क्युकी वह बॉलीवुड कि नक़ल कर रहे थे।


उन्होंने अपने देश के फिल्म मेकर्स से कहा कि आप असफल होने से मैट डरिये। असलीयात पर यकीं कीजिये और किसी कि नक़ल करने कि कोशिश मत कीजिये। तो चलिए हम आपको विस्तार में बताते है कि इमरान खान ने और क्या क्या कहा। असल में एक जवान फिल्म निर्माता से उनकी मुलाकात हो रही थी।

एक शार्ट फिल्म फेस्टिवल के दौरान, जिसमे उन्होंने साफ़ तौर पर कहा कि हिंदी फिल्म इंडस्ट्री कि नक़ल करने की ज़रूरत नहीं है। आप नया और असली कंटेंट बनाइये। इस्लामाबाद में हुए इस शार्ट फिल्म फेस्टिवल में क्रियाकर्म के दौरान इमरान ने खुल कर कहा, कि पाकिस्तानी इंडस्ट्री से शुरू में काफी गलतिया होगयी क्युकी वह हिंदी सिनेमा से प्रभावित थी। जिसके परिणाम स्वरुप एक ऐसी संस्कृति हमारे देश में बन गयी, जिसने दूसरे राष्ट्र की संस्कृति की नक़ल करने और अपनाने की प्रथा को जारी रखा।

इमरान खान का कहना यह है कि पाकिस्तान के फिल्म निर्माता बॉलीवुड के फिल्म निर्माताओं कि नक़ल कर रहे थे। इस वजह से इंडिया की संस्कृत पाकिस्तान में प्रसिद्ध होने लगी। इमरान खान ने पाकिस्तानी फिल्म इंडस्ट्री से सोचने को कहा कि आप नयी कहानियो के बारे में सोचे, नए तरीको के बारे में सोचे। आखिर में उन्होंने यह भी कहा कि दुनिया में सिर्फ असली चीज़ कि कीमत होती है, नकली चीज़ कि कीमत कोई नहीं होती। पाकिस्तान को लेकर बॉलीवुड पहले ही काफी विवादों में रहा है।

कहा जाता है कि पाकिस्तानी कलाकारों को जितने मौके बॉलीवुड ने दिए, उतने मौके हिंदुस्तान के कलाकारों को नहीं मिला करते थे इसके बावजूद यह बदनामी अपने सर पर लिए चला जा रहा है और सरहद पार से यह बयान आते है कि बॉलीवुड कि नक़ल करना चोरडो और कुछ नया लेकर आओ।

+