उत्तर प्रदेश : पॉड कारें नोएडा हवाई अड्डे को नई फिल्म सिटी, नजदीकी व्यावसायिक केंद्रों से जोड़ सकती हैं

यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (येदा) को सौंपी गई विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) के अनुसार, पॉड टैक्सी परियोजना, जिसे प्रस्तावित फिल्म सिटी के साथ जेवर में आगामी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को जोड़ने की योजना है, पर लगभग 862 करोड़ रुपये खर्च होंगे|

जेवर हवाई अड्डे और नोएडा फिल्म सिटी के बीच संचालित होने वाली भारत की पहली पॉड टैक्सी; पूरी जानकारी यहां पाएं

इस साल मार्च में, येइदा ने पॉड टैक्सी परियोजना की एक डीपीआर तैयार करने के लिए केंद्र सरकार की एजेंसी, इंडियन पोर्ट रेल एंड रोपवे कॉर्पोरेशन लिमिटेड को शामिल किया था, जो जेवर हवाई अड्डे और फिल्म सिटी के बीच संपर्क को बढ़ावा देगी।

येदा के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरुण वीर सिंह ने कहा – “यह महत्वपूर्ण परियोजना फिल्म सिटी और नोएडा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के बीच पड़ने वाले आवासीय और औद्योगिक क्षेत्रों को सुगम कनेक्टिविटी प्रदान करेगी। हमने डीपीआर का अध्ययन शुरू कर दिया है ताकि जरूरत पड़ने पर हम किसी भी बदलाव का सुझाव दे सकें और बाद में इसे मंजूरी के लिए यूपी सरकार को भेजा जाएगा”|

पॉड टैक्सी, जो कई पश्चिमी देशों में काफी लोकप्रिय हैं, प्रति कार चार से छह यात्रियों को समायोजित कर सकती हैं। येइदा के अधिकारियों के मुताबिक पहले इस प्रोजेक्ट को एलिवेटेड कॉरिडोर पर बनाने का प्रस्ताव था लेकिन डीपीआर ने इसे सतह पर ही बनाने का सुझाव दिया है। इंडियन पोर्ट रेल एंड रोपवे कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आईपीआरसीएल) ने नोएडा एयरपोर्ट जेवर और फिल्म सिटी के बीच पॉड टैक्सी सेवा प्रोजेक्ट के लिए एक विस्तृत परियोजना रिपोर्ट या डीपीआर तैयार की है। यह रिपोर्ट 14 किलोमीटर के दायरे की है| दोनों गंतव्यों के बीच चालक रहित टैक्सी चलाने की योजना है।

इंडियन पोर्ट रेल एंड रोपवे कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आईपीआरसीएल) ने 14 किलोमीटर टैक्सी पॉड लाइन के लिए डीपीआर का अंतिम ड्राफ्ट तैयार कर यमुना प्राधिकरण को सौंप दिया है। यह भारत की पहली पॉड टैक्सी सेवा होगी| अब यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (YEIDA) बोर्ड अंतिम डीपीआर के बारे में चर्चा करेगा और अगर सब कुछ ठीक रहा, तो डीपीआर को मंजूरी दी जाएगी। अंतिम मंजूरी उत्तर प्रदेश सरकार से लेनी होगी।पॉड टैक्सी के जेवर एयरपोर्ट और नोएडा फिल्म सिटी के बीच येडा सेक्टर 21, 28, 29, 32 और 33 को कवर करने की उम्मीद है।

 

+