पूनम ने पेट में बच्चा होने पर भी करी पढ़ाई और UPSC की परीक्षा में मिली सफलता हासिल – पढ़े पूरी खबर

दोस्तों हर कोई अपने जीवन में संघर्ष करता है चाहे वो इंसान हो या कोई जानवर। संघर्ष जन्म से शुरू होता है और अंतिम सासो तक चलता रहता है। जैसे जैसे हम बड़े होते जाते है हमारी मुश्किलें बदलती जाती है और उतनी ही बढ़ती ही जाती है। आज की दुनिया में कई देशो में महिलाओ के लिए किसी भी क्षेत्र में संघर्ष और चुनोतिया मर्दो से ज्यादा ही है क्युकी उन्हें एक उम्र तक की ही आज़ादी मिलती है उसके बाद उनकी शादी करदी जाती है।

आज हम एक ऐसी महिला की बात करेंगे जिन्होंने अपनी प्रैगनैंसी के दौरान करा अपने सपनो को पूरा। पूनम दलाल हरियाणा की रहने वाली है। पूनम एक अध्यापक थी लेकिन इनके सपने सिर्फ यही तक सिमित नहीं थे, इन्होने अपने जीवन में इसके बाद सफलता हासिल करी और लोगो के लिए प्रेरणा बानी।

पूनम एक माध्यम वर्ग परिवार में रहती है, इन्होने UPSC की परीक्षा में सफल होकर यह सिद्ध कर दिया कि इस कठिन परीक्षा का अमीरी गरीबी से कोई लेना देना नहीं है, बस चाहिए तो कड़ी मेहनत और कुछ पाने की लगन। पूनम दलाल ने पो, UPSC और टीचर की परिषये पास करी है। जब वह नो महीने की गर्भवती थी तब भी उन्होंने पढ़ाई नहीं छोड़ी और अपनी नवजात औलाद को घर छोड़ कर परीक्षा देने भी गयी थी।

वैसे तो पूनम हरियाणा के इज़्ज़ार गांव की है लेकिन उनका जन्म और परवरिश दिल्ली में हुई थी। पूनम दलाल ने अपनी 12th पास करने के बाद ही एक प्राइमरी स्कूल में पढ़ना शुरू कर दिया था। पूनम ने स्कूल में पढ़ते हुए ही अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई दिल्ली यूनिवर्सिटी से करी। ग्रेजुएशन होने के बाद पूनम ने PO , एसएससी और भी कई परीक्षाएं दी और सफलता भी प्राप्त करी। पूनम ने  ज्यादा पढ़ाई करी की उन्होंने SBI में PO की जॉब भी स्वीकार करी। लेकिन उनका कहना है की मुझे सिर्फ इस बात का अफ़सोस है की मुझे कोई दिशा दिखने वाला नहीं मिला था जिस वजह से उन्हें UPSC की परीक्षा देने में 2015 तक का समय लगा।


पूनम ने सिविल सर्विस में जाने का निर्णय तब लिया था जब वह प्राइमरी स्कूल में बच्चो को पढ़ाया करती थी। पूनम ने SBI बैंक में भी तीन साल तक काम किया लेकिन फिर साल 2006 में उन्होंने SSC की ग्रेजुएट लेवल परीक्षा में नेशनल लेवल पर #7 प्राप्त कृ और फिर आयकर विभाग में काम करना शुरू कर दिया।

पूनम को इस काम के बाद ही UPSC की परीक्षा देने का मन बना। पूनम ने साल 2015 में UPSC की परीक्षा दी और उस समय वह 9 महीने से गर्भवती भी थी। दिसंबर के महीने में उनका बच्चा सिर्फ 3 महीने का था तब वह अपने मैन्स की परीक्षा देने गयी हुई थी। पूनम के लिए यह बात अच्छी थी की शादी के बाद भी उनके पति ने उन्हें किसी पढ़ाई या जॉब करने से रोक टोक नहीं करी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *