राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद की 4 दिवसीय यूपी यात्रा हुई शुरू, जाएंगे अयोध्या, वहां करेंगे ‘पूजा’

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद आज गुरुवार, 26 अगस्त, 2021 से अपनी चार दिवसीय उत्तर प्रदेश की यात्रा शुरू करने जा रहे हैं। इस यात्रा के दौरान राष्ट्रपति विभिन्न समारोहों में भाग लेंगे| इस यात्रा के दौरान राष्ट्रपति कोविंद राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश सरकार के तहत संस्कृति और पर्यटन विभाग की विभिन्न परियोजनाओं का शुभारंभ करने जा रहे हैं।

यात्रा के दौरान होंगे राष्ट्रपति कई समारोहों में शामिल

आधिकारिक सूत्रों के द्वारा पता चला है की, राष्ट्रपति अपनी यात्रा के आखिरी दिन यानी चौथे दिन अयोध्या भी जाएंगे और रामलला को नमन करेंगे| ऐसा करने वाले वे देश के पहले राष्ट्रपति होंगे। वह निर्माणाधीन राम मंदिर स्थल पर भी पूजा अर्चना करेंगे। यात्रा के सबसे पहले दिन राष्ट्रपति शाम को लखनऊ में बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय के नौवें दीक्षांत समारोह में शामिल होंगे|

इसके बाद दूसरे दिन यानी शुक्रवार को वे लखनऊ में कैप्टन मनोज कुमार पांडे यूपी सैनिक स्कूल के हीरक जयंती समारोह में भाग लेंगे, जहां वे उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. संपूर्णानंद की छह फुट ऊंची कांस्य प्रतिमा का अनावरण भी करेंगे। राष्ट्रपति कोविंद डॉ संपूर्णानंद के नाम पर एक सभागार का भी उद्घाटन करेंगे। वे शुक्रवार को लखनऊ में संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (पीजीआईएमएस) के 26वें दीक्षांत समारोह में भी भाग लेंगे।

यात्रा के आखिरी दिन राष्ट्रपति जायेंगे आयोध्या, और करेंगे रामलला को नमन

अपनी यात्रा के तीसरे दिन यानी शनिवार, 28 अगस्त, 2021 को राष्ट्रपति कोविंद गोरखपुर जाएंगे, जहां उनका महायोगी गुरु गोरखनाथ आयुष विश्वविद्यालय की आधारशिला रखने और महायोगी गोरखनाथ विश्वविद्यालय का उद्घाटन करने का कार्यक्रम है। अपनी यात्रा के अंतिम दिन राष्ट्रपति कोविंद राष्ट्रपति ट्रेन से अयोध्या जाएंगे| उस दिन वे शहर में विभिन्न परियोजनाओं का भी शुभारंभ करेंगे, जिसमें तुलसी स्मारक भवन का नवीनीकरण और निर्माण, नगर बस स्टैंड और अयोध्या धाम का विकास शामिल है।

यह उत्तर प्रदेश राज्य में राष्ट्रपति की दूसरी यात्रा है, इससे पहले वे जून में उत्तर प्रदेश आये थे, और वे परौंख गए थे, जो उत्तर प्रदेश के कानपूर जिले में एक गांव है| परौंख राष्ट्रपति कोविंद का गांव है और यह जाने के लिए उन्होंने दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से ट्रेन ली थी, और इसी के द्वारा अपने गांव पहुंचे।

Leave a comment

Your email address will not be published.