यू.पी. : आज से परिजन कर सकेंगे जेल में कैद बंदियों से मुलाकात

आज से जेल में कैद बंदियों से उनके परिजन मुलाक़ात कर पाएंगे| कोरोना काल के चलते वाराणसी जिला जेल और सेंट्रल जेल में मुलाकात पर प्रशासन ने रोक लगाई थी, लेकिन आज से ये रोक हटा दी गयी है, और परिजन पहले की तरह ही जेल में कैद बंदियों से मिल सकेंगे।

जेल में कैदियों से मुलाकात पर लगी रोक हटी, आज से परिजन मिल पाएंगे जेल में कैद बंदियों से

बंदियों व कैदियों से अब परिजन पहले की तरह ही मुलाकात कर सकेंगे। हालांकि जो कोई परिजन मुलाकात का इच्छुक हो, उन्हें पहले अपनी तीन दिन के अंदर की आरटीपीसीआर कोरोना निगेटिव रिपोर्ट जेल प्रशासन को पेश करनी होगी, उसके बाद आप आराम से जेल में जाकर वहां कैद अपने रिश्तेदारों से मिल सकते हैं| लेकिन इस बात का भी ख़ास ख्याल रखना होगा, की भले ही आपकी रिपोर्ट निगेटिव आयी हो, लेकिन आपको मास्क का इस्तेमाल ज़रूरी करना होगा|

बगैर मास्क लगाए कोई भी व्यक्ति जेल के अंदर दाखिल नहीं हो सकेगा। एक बंदी से सप्ताह में एक बार में दो लोग मुलाकात कर सकेंगे। पर आपको इस बात का ख़ास ख्याल रखना होगा, की कैदियों से मुलाकात करते वक़्त आप कोविड गाइडलाइन्स का अच्छे से पालन करें|

कोरोना काल में कैदियों के लिए फ़ोन की व्यवस्था कराई गयी

उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिला जेल के अधीक्षक अरुण कुमार सक्सेना के अनुसार, जेल प्रशासन ने कोरोना महामारी को देखते हुए कैदियों के लिए फ़ोन की व्यवस्था भी कराई है, जो कैदी अपने परिजनों से किसी कारणवश न मिल पाए, तो वो उनसे फ़ोन पर भी बात कर सकता है|

इसके लिए जेल प्रशासन ने उनके लिए 15 फोन की व्यवस्था कराई है, ताकि वे अपने परिजनों से बात कर सकें| इसके लिए बंदी को पहले जेल प्रशासन को दो नंबर प्रदान करने होंगे। आपको बता दें की इस समय जिला जेल चौकाघाट में 2377 बंदी हैं, और वहीं सेंट्रल जेल शिवपुर में 1600 बंदी निरुद्ध हैं। पूर्ण रूप से कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए, आज से जेल प्रशासन कैदियों की मुलाकात उनके परिजनों से कराएँगे|

Leave a comment

Your email address will not be published.