सेल्फी क्रेज ने ली तेलंगाना में बसे एक परिवार की तीन बेटियों की जान

सेल्फी लेने का क्रेज यंगस्टर्स में बढ़ता जा रहा है, और इन सेल्फी को लेने के लिए वे अपनी जान की परवाह करे बिना किसी भी जगह चले जाते हैं, और इसका नतीजा क्या होता है, वह आये दिन हम अख़बार में पड़ते और सुनते हैं| ऐसे ही हादसे का शिकार हुआ है एक तेलंगाना का परिवार, जिसने सेल्फी क्रेज के चलते अपनी तीन बेटियों को खो दिया|

सेल्फी लेने गयी तीन किशोर लड़कियाँ हुई हादसे का शिकार

एक दुखद घटना में, एक परिवार की तीन किशोरियां सेल्फी लेने की कोशिश में सिंचाई के टैंक में डूब गईं। पुलिस ने कहा कि सोमवार को हुई दुखद घटना तेलंगाना के निर्मल जिले के सिंगनगांव गांव की है। मृतकों की पहचान एलीम सुनीता (16), उनकी बहन वैशाली (14) और उनकी चचेरी बहन अंजलि (14) के रूप में हुई है। पुलिस ने कहा कि तीनों गलती से झील में गिर गए और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपलोड करने के लिए सेल्फी लेने की कोशिश में डूब गए।

पुलिस निरीक्षक अजय बाबू ने बताया कि जब लड़कियां घर नहीं लौटीं, तो उनके माता-पिता ने तलाशी शुरू की और पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई| सोमवार की सुबह कुछ ग्रामीणों ने तालाब में शव तैरते देखा तो पुलिस को सूचना दी। पुलिस को एक मोबाइल फोन भी मिला है।

कैसे हुई मृत्यु?

सुनीता और वैशाली अपनी मां मंगलाबाई और उनकी चचेरी बहन अंजलि के साथ रविवार दोपहर अपने कृषि क्षेत्र में कुछ समय बिताने गए और अपने मोबाइल फोन में तस्वीरें लीं। इसके बाद लड़कियां कुछ तस्वीरें लेने के लिए पास के टैंक में गईं। जहां वे सेल्फी लेने के लिए खड़े थे, वहां फिसलन भरी थी, और वे स्पष्ट रूप से फिसल गए और टैंक में गिर गए|

मां मंगलाबाई यह सोचकर घर लौट आईं कि शायद लड़कियां पहले ही लौट चुकी होंगी। लेकिन जब वे नहीं लौटे तो परिजनों ने उनकी तलाश शुरू कर दी। सुनीता और वैशाली के पिता दादा राव ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस के मुताबिक, अंजलि महाराष्ट्र की रहने वाली थी और गांव में अपने रिश्तेदारों से मिलने आई थी। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भैंसा कस्बे के एक सरकारी अस्पताल में भेज दिया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *