उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में स्कूल खुलने पर छात्रों का हुआ स्नेहपूर्ण स्वागत

प्रयागराज जिले के संगम नगर में छह महीने के अंतराल के बाद 1005 उच्च प्राथमिक विद्यालय फिर से खुल गए। कोविड -19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए शिक्षकों और स्कूल के कर्मचारियों ने रोली टीका के साथ छात्रों का भव्य स्वागत किया।

स्कूल वापसी पर प्रयागराज के स्कूलों में हुआ छात्रों का हुआ भव्य स्वागत

हालांकि छठी से आठवीं तक के स्कूलों के फिर से खुलने के पहले दिन उपस्थिति का प्रतिशत कम था, लेकिन छात्रों ने कक्षाओं में भाग लेने के लिए स्कूल परिसर में पहुंचने पर बहुत ज़्यादा खुशी व्यक्त की। शिक्षकों और स्कूल स्टाफ द्वारा छात्रों के इस विनम्र स्वागत से सभी खुश थे| लेकिन स्वागत के साथ साथ उनकी सेहत का ध्यान रखना भी बेहद ज़रूरी है, इसीलिए छात्रों को सख्ती से मास्क पहनने को कहा गया।

बिना मास्क के स्कूल परिसर में पहुंचे छात्रों को शिक्षकों ने मास्क भेंट किए। स्कूल के अधिकारियों ने स्कूल परिसर में प्रवेश करने से पहले आगंतुकों से इसका उपयोग करने की अपील करते हुए स्कूल के प्रवेश द्वार पर सैनिटाइजर की व्यवस्था उपलब्ध कराई है।

स्कूल प्रबंध ने छात्रों की सुरक्षा के लिए अपनाये ठोस कदम

शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के उच्च प्राथमिक विद्यालयों में क्रमश: 50 और 30 प्रतिशत उपस्थिति दर्ज की गई| कई छात्र अपने माता-पिता से स्व-घोषणा पत्र लाए थे। उच्च प्राथमिक विद्यालय के अधिकारियों ने अपनी ओर से कोविड -19 प्रोटोकॉल के सख्त पालन पर ध्यान केंद्रित किया है और स्कूल के प्रत्येक कर्मचारी और छात्र के लिए मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है।

ट्रांस-यमुना में एक उच्च प्राथमिक विद्यालय के प्रिंसिपल के मुताबिक छात्रों के परिवार के सदस्यों या अभिभावकों को एक स्व-घोषणा पत्र ले जाने और सभी कोविड -19 प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए कहा गया। साथ ही सभी बच्चों को एक दूसरे से उचित दूरी बनाकर बैठने को कहा गया। छात्रों को सहज बनाने के लिए, शिक्षकों और स्कूल के कर्मचारियों ने तालाबंदी और महामारी पर छात्रों के साथ अपने अनुभव साझा किए। शिक्षकों ने संक्रमण से सुरक्षित रहने के लिए एहतियाती उपायों पर भी छात्रों को शिक्षित किया।

+