यू.पी. : दो प्रयासों में रही असफल, पर तीसरे प्रयास में जीत हासिल कर आईएएस बनी बनारस की बेटी

हर साल यूपीएससी की सिविल सर्विसेज की परीक्षा में देश भर से लाखों उम्मीदवार भाग लेते हैं, पर कुछ ही होते जिन्हें सफलता मिल पाती है| यह परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षा है, और यदि आप सच में यह परीक्षा पास करना चाहते हैं तो आपको सब कुछ भूल कर बीएस इसी की तैयारी में लगना होगा| बहुत सी बार होता है, की हम पहले, दूसरे, तीसरे और इससे ज़्यादा बार परीक्षा पास नहीं कर पाते, जिससे कुछ उम्मीदवार ऐसे होते हैं जो हार मान लेते हैं| लेकिन कुछ के अंदर जूनून होता है| आज हम आपको ऐसे ही एक उम्मीदवार की कहानी बताने जा रहे हैं, जो लगातार दो प्रयासों में सफलता नहीं पा सकीं| लेकिन वो तीसरा बार फिर आयीं और इस बार परीक्षा पास कर आईएएस बन गयी, और वह हैं बनारस की अपराजिता, जो आज सबके लिए एक प्रेरणा बन चुकी हैं|

नहीं मानी दो असफलताओं से हार और तीसरे प्रयास में पा ली सफलता

आपको बता दें कि अपराजिता बनारस की रहने वाली हैं, और उनके पिता एक रिटायर्ड आईआरएस ऑफिसर हैं, और उनकी माता एक प्रोफ़ेसर हैं अपराजिता ने स्कूल की पढ़ाई खत्म करने के बाद रांची के बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी से केमिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन किया| ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद उन्हें एक कंपनी में अच्छी नौकरी मिली, और इस दौरान जबलपुर और मुंबई जैसे जगहों पर रहने का अवसर भी मिला|

संकल्प था आईएएस बनना, इसीलिए छोड़ आयी नौकरी और जुट गयी तैयारी में

अपराजिता ने बताया की अक्सर उनके नाना बोलै करते थे की अपराजिता एक दिन अफसर बनेगी, बस यही बात उनके दिमाग में घूमने लगी| और उन्होंने नौकरी के दौरान ही परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी, और कुछ समय बाद तैयारी के लिए नौकरी छोड़ दी | पहले दो प्रयासों में वह असफल रही, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और दृढ़ संकल्प और लगन के साथ तैयारी करती रहीं| और आखिरकार तीसरे प्रयास में उन्हें सफलता मिल ही गयी| और अपराजिता ने साल 2017 में यूपीएससी परीक्षा के अपने तीसरे प्रयास में 40वीं रैंक प्राप्त की|

अपराजिता ने सभी को बताया की प्रीलिम्स, मेन्स, और इंटरव्यू की तैयारी अलग-अलग करने की जगह एक साथ करना चाहिए| इसके लिए आप अपना बेसिक मजबूत रखें, और एनसीईआरटी किताबों से तैयारी करते रहें | अखबार पड़ना शुरू करें, और अपना उद्देश्य निश्चित कर लें की आज आपको कितना पड़ना है, और उद्देश्य को हासिल करने की कोशिश करें|

+