लोगों के सामने आया “पवनदीप राजन” का इतना बड़ा सच ,सभी ने बोला कि तुम हो ?

पवनदीप राजन इतनी ज्यादा पॉपुलर हो गए हैं कि इनको अब किसी नाम की या फिर पहचान की मोहताज नहीं है। लगभग हर एक व्यक्ति इनको जानता है और संगीत की दुनिया में इन्होंने अपना अलग ही नाम बना लिया है। मूल रूप से पवनदीप राजन उत्तराखंड से आते हैं और वह इंडियन आईडल सीजन 12 के विजेता है। इंडियन आइडल का सीजन 12 जीतने के बाद से ही उनके करियर का परवान चढ़ना शुरू हुआ और वह देखते ही देखते अपने जीवन की बुलंदियां में आगे बढ़ते चले गए।

ढाई साल की उम्र में बजाना सीख गए थे तबला

पवनदीप राजन इंडियन आइडल में इसलिए भी जाने जाते थे क्योंकि उन्हें म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट में काफी जयदा इंस्ट्रूमेंट भी बजाने आते थे और ऐसा कर पाना बेहद मुश्किल है। क्योंकि वह इंस्ट्रूमेंट बजाने के साथ-साथ गाना भी गा लेते थे और लोगों का दिल जीत लेते थे। इसके साथ ही हम आप सभी लोगों को बताना चाहते हैं कि उनके पिता भी एक संगीतकार हैं।

इसी वजह से उन्होंने पवन को बचपन में ही तबले से लेकर हर एक म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट की तालीम देना शुरू कर दी थी उसी का नतीजा है। कि आज वह इतनी उम्दा कलाकार हैं और अपने जीवन में इतने आगे बढ़ रहे हैं। इंडियन आइडल के शो में उनके पिता ने यह भी कहा था। कि आने वाले समय में वह अपने बेटे के साथ एक एल्बम लॉन्च करेंगे जो उनके वर्षों पुराना सपना है जिसके लिए सभी इंडियन आइडल की जज ने उन्हें काफी समर्थन भी करा था।

अभी तक पवनदीप जीत चुके हैं कई रियलिटी शो

हम आप सभी लोगों को बता देना चाहते हैं कि ज्यादातर लोगों ने पवनदीप राजन को सबसे पहले इंडियन आईडल में ही देखा लेकिन यहां सच बात नहीं है कि उन्होंने अपने करियर की शुरुआत इंडियन आइडल से करें इससे पहले यह वॉइस ऑफ इंडिया भी जीत चुके हैं ,और इस शो में करीब 102 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था जिसने पवनदीप राजन काफी ज्यादा मशहूर हुए थे और काफी ज्यादा लोकप्रियता भी हासिल करी थी।

वह वॉइस ऑफ इंडिया के उस सीजन में टीम शान के सिंगर थे और उन्होंने लाजवाब परफॉर्मर्स देते हुए सभी लोगों का दिल जीत लिया था। पवनदीप मशहूर सिंगर नहीं बन पाए थे और इंडियन आइडल के मुकाबले उस वक्त उन्हें इतनी ज्यादा पॉपुलर नहीं मिली थी। लेकिन पवनदीप को चैनल की तरफ से लगभग ₹50 लाख का पुरस्कार जरूर दिया गया था।

+