उत्तर प्रदेश राज्य में हुई गन्ने की खेती स्मार्ट, 44 लाख से अधिक किसानों ने डाउनलोड किया ई-गन्ना ऐप

उत्तर प्रदेश राज्य में 44.40 लाख से अधिक किसानों ने ई-गन्ना ऐप डाउनलोड किया है, जहां उन्हें सीधे उत्तर प्रदेश गन्ना विभाग से जुड़ने का माभ मिल रहा है। यह ऐप इतनी मददगार साबित हुई है की इसने किसानों को बिचौलियों की उपस्थिति से मुक्त कर दिया है।

गन्ने की खेती हुई स्मार्ट, किसान जुड़ रहे ई-गन्ना ऐप के साथ

किसानों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध उत्तर प्रदेश सरकार सुनिश्चित करती है की गन्ना किसानों का समय पर भुगतान हो और इसके साथ -साथ उन्हें आधुनिक तकनीक से जोड़ने के लिए अथक प्रयास कर रही है। किसानों के उत्थान में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार के निरंतर प्रयासों के परिणामस्वरूप न केवल उनकी आय में वृद्धि हुई है, बल्कि गन्ने की उत्पादकता भी दोगुनी हो गई है।

प्रशिक्षण सत्र 2020-21 में गन्ना किसान संस्थान द्वारा 66,963 किसानों को गन्ना उत्पादन में आधुनिक तकनीक और उन्नत तकनीक लागू करने के लिए प्रशिक्षित किया गया है। प्रशिक्षण के माध्यम से यूपी में रिकॉर्ड 81.5 टन गन्ना उत्पादन हासिल किया गया है। पिछले चार सालों में, राज्य सरकार ने राज्य में गन्ने की खेती को एक नया रूप देने का काम किया है, जिसका फल है की आज गणना किसान अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं।

ई-गन्ना ऐप पर 81 करोड़ से भी अधिक हिट

यूपी में गन्ना किसान आधुनिक तकनीकों से कैसे जुड़ते जा रहे हैं, इसका सीधा अंदाज़ा इस बात से लगा सकते हैं की अब तक गन्ना विभाग के मोबाइल एप पर 81.57 करोड़ से ज्यादा हिट हो चुकी हैं, और वहीं बात करें स्मार्ट गन्ना किसान (स्मार्ट गन्ना किसान) की वेबसाइट की तो उस पर अब तक 5.1 करोड़ हिट हो चुके हैं। ये हिट आंकड़े बता रहे हैं की कैसे उत्तर प्रदेश का किसान नयी तकनीकियों से जुड़ता जा रहा है और इन तकनीकों के द्वारा खूब लाभ कमा रहा है|

उत्तर प्रदेश के गन्ना विभाग ने किसानों को आधुनिक तकनीक से जोड़कर बिचौलियों की भूमिका को खत्म कर दिया है, जिससे विभाग और किसानों के बीच पारदर्शिता बढ़ी है, और किसानों को खूब लाभ पहुँच रहा है| इसके अलावा गन्ना विभाग किसानों के लिए प्रशिक्षण सत्र की व्यवस्था कर रहा है, पर्यवेक्षकों के माध्यम से विभाग किसानों के बीच मोबाइल ऐप के बारे में जानकारी फैलाने में मदद कर रहा है और कृषि विशेषज्ञों और किसानों के बीच सीधा संवाद स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *