3 लाख की “नौकरी छोड़”, इन दो बहनों ने खड़ी कर दी 13 करोड़ के टर्नओवर वाली कंपनी

अपने जीवन में पढ़ लिख कर अच्छी नौकरी पाना तो हर एक व्यक्ति की इच्छा होती है और ज्यादातर लोग इसे पूरी करते हैं और अपना कुशल जीवन जीने में सफलता हासिल करते हैं लेकिन कुछ लोग ऐसे होते हैं जो कि नौकरी मिलने के बाद भी संतुष्ट नहीं रहते हो उनके मन में कहीं ना कहीं वह इच्छा रहती है ,कि वह अपना कुछ करें और अपने जीवन में सफल हो कर आत्मनिर्भर बने। कुछ इसी प्रकार की कहानियां भी आज हम आप सभी लोगों को सुनाने वाले हैं। जहां पर दो बहनों ने कुछ ऐसा कर दिखाया ,जो कि लोगों के सपनों में भी सच नहीं हो सकता था।

दोनों ही महिलाएं एक सामान्य परिवार से तालुकात रखते हैं और बचपन में अनेकों प्रकार की गरीबी और तकलीफें देखकर पली-बढ़ी हैं। जिससे कि वह पैसों की अहमियत को अच्छे से जानती हैं। इसीलिए उन्होंने इतने कम पैसों की बदौलत भी इतने बड़े कारोबार को खड़ा कर दिया। तान्या बिस्वास और सुजाता बिस्वास दोनों सगी बहनें हैं। वे एक मध्यमवर्गीय भारतीय परिवार पली बढ़ी। उनके पिता रेलवे पुलिस में काम करते थे और इसी वजह से उनका हमेशा टांस्फर होता रहता था।

दोनों बहनों ने अपनी इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल करने के बाद MBA भी पूरा किया। अच्चे अंकों के साथ पढ़ाई पूरी होने के बाद तान्या का प्लेसमेंट IBM कंपनी में हुआ और सुजाता ने एस्सार स्टील में जॉब शुरू की।दोनों ही बहनों को अपनी कड़ी मेहनत और कामयाबी के चलते हैं अच्छी खासी सरकारी नौकरी मिल गई थी और वहां एक खुशी भरा जीवन जी रही थी। लेकिन उन दोनों की ही मन में कहीं ना कहीं कसक थी कि वह अपना कुछ करें और अपने जीवन में आत्मनिर्भर बने ताकि उन्हें किसी और के ऊपर निर्भर न रहना पड़े इसीलिए उन्होंने यह कदम उठाया।

उन दोनों को अपना बिजनेस शुरू करने से पहले बस अपने मन में एक ही कत्थक थी कि आखिर क्या आज भी महिलाओं के मन में साड़ी पहनने को लेकर उस प्रकार का जुनून है जो कि पौराणिक काल की महिलाओं में देखा जाता था। लेकिन बड़े ही सोच विचार और गहरी रिसर्च करने के बाद हम दोनों ने निर्णय लिया कि वह अपने साड़ी के बिजनेस को बढ़ाने का कदम उठाएंगे। क्योंकि इससे गरीब बुनकरों को सीधा फायदा मिलने वाला था .वह अपने सपने को पूरा करने वाली थी इसके साथ ही साथ लाखों लोगों को रोजगार भी देती और उनके जीवन में भी कई हद तक मदद कर पाती।

आप सभी लोगों को आंकड़े सुनकर जरूर हैरानी होगी क्योंकि उन्होंने साल 2019 में सोता ब्रांड ने कुल मिलाकर 13 करोड रुपए का व्यापार किया जो कि काफी ज्यादा रकम है। इसके साथ ही तानी और सुजाता ने आज एक मिसाल पेश करी है। कि अगर लड़कियां कुछ करने की मन में ठान ले तो वहां किसी से नहीं डरती और अपने जीवन में अपनी मंजिल तक अवश्य पहुंच कर रहती है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *