यूपी में ‘मिशन शक्ति’ का तीसरा चरण हुआ शुरू, 1.5 लाख और लड़कियों को मिलेगा नकद लाभ

आपको बता दें की ‘मिशन शक्ति’ कार्यक्रम मूल रूप से पिछले साल अक्टूबर में शुरू किया गया था। आज इस अवसर पर आयोजन में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद थे।

शुरू हो गया है ‘मिशन शक्ति’ का तीसरा चरण हुआ शुरू, 1.5 लाख और लड़कियों को मिलने वाली है नकद मदद

उत्तर प्रदेश सरकार ने शनिवार को महिलाओं के लिए सुरक्षा, सम्मान और आत्मनिर्भरता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से ‘मिशन शक्ति’ के तीसरे चरण की शुरुआत कर दी है। इस नए चरण का उद्घाटन केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में हुआ।

आपको बता दें की यह उत्तर प्रदेश सरकार का एक प्रमुख कार्यक्रम है, और इसमें महिलाओं के सशक्तिकरण का कार्य किया जाता है| मिशन शक्ति कार्यक्रम का तीसरा चरण 31 दिसंबर को समाप्त हो जायेगा। इस चरण में लागू होने वाली मुख्य योजनाएं सभी 59,000 ग्राम पंचायत भवनों (ग्राम पंचायत भवनों) में ‘मिशन शक्ति काक्षा’ (कक्षाओं) का शुभारंभ हैं।

मिशन के द्वारा किया जाता है राज्य की महिलाओं का सशक्तिकरण

इस मिशन के अंदर एक लाख महिला स्वयं सहायता समूहों में से 1.73 नए लाभार्थियों को निराश्रित महिला पेंशन योजना से जोड़ना, संभाग मुख्यालय और गौतम बौद्ध नगर में सुरक्षित शहर परियोजना, महिला पुलिस कर्मियों की बीट पुलिस अधिकारियों के रूप में पदस्थापना, शौचालयों का निर्माण, प्रान्तीय सशस्त्र कांस्टेबुलरी (पीएसी) की महिला बटालियनों के लिए 2,982 पदों पर विशेष भर्ती, शहरी क्षेत्रों में महिला उपनिरीक्षकों की तैनाती, सभी पुलिस लाईनों में शिशुगृह की स्थापना एवं महिला महाविद्यालयों में स्वास्थ्य क्लब का निर्माण।

आपको बता दें की कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कन्या सुमंगला योजना के तहत 1.5 लाख नए लाभार्थियों के बैंक खातों में 30.12 करोड़ रुपये भी ट्रांसफर किए। इसके साथ ही योजना से लाभ पाने वाली कन्याओं की कुल संख्या 9.36 लाख हो जाएगी। बदायूं में वीरांगना अवंतीबाई बटालियन के प्रांगण का भी शिलान्यास किया जा चुका है।

Leave a comment

Your email address will not be published.