उत्तर प्रदेश को मिला ‘अंतर्देशीय मत्स्य पालन में सर्वश्रेष्ठ राज्य’ का प्रथम पुरस्कार

प्रदेश में रोज़गार प्रदान करने के लिए योगी सरकार उत्तर प्रदेश में कई सुनहरी रोज़गार योजनाएं चला रही हैं| इन योजनाओं के द्वारा किसानों वा युवाओं के लिए प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से कई रोजगार के अवसर भी पैदा हो रहे हैं।

अंतर्देशीय मत्स्य पालन में राज्य ने जीता सर्वश्रेष्ठ राज्य का प्रथम पुरस्कार

कम लागत में यह सरकार किसानों वा युवाओं को अधिक लाभ देने के लिए लघु, सूक्ष्म व्यवसाय इकाइयों को प्रोत्साहित कर रही है। इस संबंध में राज्य सरकार मछली पालन को अधिक से अधिक बढ़ावा दे रही है। और इसमें पहला पुरस्कार भी जीत चुकी है| मत्स्य पालन से रोजगार और आय वृद्धि में सुनहरी सम्भावनों को देखते हुए योगी सरकार मछली पालन रोजगार को अधिक प्रोत्साहित कर रही है, ताकि इससे किसानों को फायदा मिले|

मत्स्य पालन में प्रशिक्षण देने के साथ-साथ सरकार द्वारा इस व्यवसाय को बड़े पैमाने पर विस्तारित करने का प्रयास किया जा रहा है। अब प्रदेश के किसान खेती के साथ-साथ मत्स्य पालन से भी अपनी आय बढ़ा सकते हैं। राज्य को सीएम योगी के नेतृत्व में अंतर्देशीय मत्स्य पालन में सर्वश्रेष्ठ राज्य का पहला पुरस्कार भी मिला है। यह राज्य सरकार के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है| प्रदेश में 57 मत्स्य बीज हैचरी एवं 385 मत्स्य बीज पालन इकाइयों के निर्माण से लोगों का बहुत मुनाफा हो रहा है|

2017 में किये थे वादे, कर रहे हैं उन्हें साकार

‘संकल्प पत्र 2017’ में योगी सरकार ने जनता से मत्स्य पालन को लेकर बहुत से वादे किये थे| जिनको वे साकार करने की पुरज़ोर कोशिश कर रहे हैं| इसके लिए उन्होंने 4.5 साल के अपने कार्यकाल में इसका एक ढांचा खड़ा कर दिया है| मत्स्य जलाशयों के लिए न्यूनतम अनुबंध अवधि 3 वर्ष से बढ़ाकर 10 वर्ष कर दिया गया है|

पिछले चार वर्षों में 26.44 लाख मीट्रिक टन मछली उत्पादन, और 1191.27 करोड़ से अधिक मत्स्य बीज उत्पादन किया गया है| 7883 से अधिक मछुआरों को किसान क्रेडिट कार्ड वितरित किया गया है अथवा उनके लिए मुक्‍त मछुआरा दुर्घटना बीमा योजना लागू की गयी है| 57 मत्स्य बीज हैचरी और 385 मत्स्य बीज पालन इकाइयों का निर्माण किया गया है, अथवा मछुआरों को तकनिकी से जोड़ने के लिए यूपी मछली किसान ऐप संचालित किया गया है|

+