यू.पी. : फेरे के दौरान एक लाख रुपये नकद, जेवर लेकर दुल्हन हुई फरार

घटना मेरठ के परतापुर क्षेत्र के भूर बराल गांव की है जहां एक व्यक्ति ने शिकायत दर्ज कर दावा किया है कि कुछ लोगों के एक समूह ने उसके साथ एक लाख रुपये और अन्य जेवरात ठग धोखाधड़ी की है। मेरठ के परतापुर इलाके में दुल्हन और उसके अभिभावक किसी बहाने से फेरों के बीच से नगदी और जेवरात लेकर भाग गए|

फेरों के बीच से भागी दुल्हन, साथ ले गयी नगदी वा जेवर

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में एक शादी समारोह के दौरान दुल्हन, उसके अभिभावक और यहां तक ​​कि पुजारी भी फर्जी निकले। एक व्यक्ति ने शिकायत दर्ज कराकर दावा किया है कि ठग लोगों के एक समूह ने उसे शादी के झांसे में फंसकर उससे एक लाख रुपये और अन्य जेवरात ठग लिए।

जानकारी के मुताबिक एक मंदिर में आयोजित एक विवाह समारोह के दौरान जब फेरे चल रहे थे तो दुल्हन चौथे फेरे के बीच में ही भाग गई। घटना मेरठ के परतापुर क्षेत्र के भूर बराल गांव की है| मुजफ्फरनगर के मोहम्मदपुर गुमी निवासी देवेंद्र के रूप में पहचाने जाने वाले एक व्यक्ति ने कहा कि उसके एक दोस्त प्रदीप ने उसे बताया कि एक परिवार अपनी बेटी के लिए दूल्हा ढूंढ रहा था। प्रदीप ने लड़की की तस्वीर भी देवेंद्र को भेज दी।

दुल्हन के रिश्तेदार भी निकले नकली, आये थे ठगी के मकसद से

देवेंद्र ने प्रस्ताव पर सहमति जताई। शादी रविवार को परतापुर में तय हुई थी। देवेंद्र एक लाख रुपये नकद और जेवरात लेकर भूर बराल पहुंचा। शादी एक मंदिर में होनी थी। दुल्हन पक्ष से तीन लोग थे। मोहिउद्दीनपुर के एक शिव मंदिर में जैसे ही शादी की रस्में शुरू हुईं, ‘दुल्हन’ शौचालय जाने के बहाने चौथे फेरे के दौरान गायब हो गई| बाद में दुल्हन की बुआ होने का दावा करने वाली एक महिला भी उठकर उसे ढूंढ़ने के बहाने भाग निकली|

हंगामे के दौरान दुल्हन पक्ष के अन्य ‘मेहमान’ भी भाग गए। मौके पर कोई नहीं मिलने पर देवेंद्र को लगा कि उनके साथ धोखाधड़ी हुई है और उन्होंने परतापुर थाने में शिकायत दर्ज की| परतापुर निरीक्षक नजीर खान ने कहा कि वे पीड़ित द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर मामले की जांच कर रहे हैं।

+