UP के 53 जिलों में कल होगा जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव, जानें किसकी बनेगी सरकार

उत्तर प्रदेश जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव का एहम मोड़ कल यानि शनिवार, 03 जुलाई 2021 को आने वाला है| कुछ सूत्रों कि मुताबिक जिला पंचायत सदस्यों के 3050 सीटों में से 580 भाजपा (BJP) के, 837 सपा के, 378 बसपा के, 69 कांग्रेस के जबकि 1186 निर्दलीय चुने गये हैं| यह मुकाबला भाजपा और सपा के बीच टक्कर का होने वाला है| वोटिंग के तुरंत बाद ही काउंटिंग शुरू हो जाएगी और पता चल जायेगा कि कौन सी पार्टी ने कितनी सीट पर जीत दर्ज की है |

UP के 53 जिलों में शनिवार को होंगे जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव, क्या भाजपा के लक्ष्य को तोड़ पाएगी सपा

उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में जिला पंचायत अध्यक्षों चुने जाने वाले हैं| इनमें से 22 जिलों में पहले ही निर्विरोध अध्यक्ष चुन लिये गये हैं, जिसमें इटावा की सीट को छोड़कर बाकी 21 जिलों में भाजपा के अध्यक्ष चुने गये हैं और बाकि 53 जिलों के लिए शनिवार को वोट डाले जाएंगे. जैसे कि वोटिंग खत्म होने के तुरंत बाद ही काउंटिंग शुरू हो जाएगी तो परिणाम आने तक यह साबित हो ही जायेगा कि किसका परचम लहराएगा |

शनिवार को वोटों की गिनती के साथ अध्यक्षी का घमासान थम जाएगी| यह भाजपा और सपा के बीच बहुत ही मुख्य मुकाबला होने वाला है, और यह देखना सच में दिलचस्प रहेगा कि किसकी सरकार बनती है| बता दें कि भाजपा और सपा के अलावा किसी और पार्टी की हिस्सेदारी इतनी मजबूत नहीं है |

भाजपा का लक्ष्य 65 सीटों पर जीत

21 जिलों में भाजपा निर्विरोध सरकार बना चुकी है, पर पार्टी ने अपना लक्ष्य 65 सीटों कि लिए साधा है, और अब लिहाजा 44 पर परचम लहराना बाकी है| अध्यक्ष चुनाव में जीत हासिल करना भाजपा कि लिए बहुत ही आवश्यक है क्योंकि पंचायत चुनाव में कथित हार के दाग भी तो उसे धुलने हैं|

बता दें कि बसपा भी मुकाबले में बनी हुई थी, लेकिन 28 जून को मायावती के इस ऐलान के बाद कि उसके समर्थित उम्मीद्वार अध्यक्ष का चुनाव नहीं लड़ेंगे, वह मुकाबले से बहार हो गयी, कांग्रेस में भी बहुत कम उम्मीदवार हैं, जिस वजह से यह मुकाबला सीधा सस्पा और भाजपा के बीच होगा|

Leave a comment

Your email address will not be published.