छोटे भाई ने स्कूल के लिए माँगा था स्कूटर तो बड़े भाई ने बना दी पुरानी साइकिल को इलेक्ट्रॉनिक बाइक

जैसा की आपको पता है वाहनों की तादात दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। भारत में तो पेट्रोल और डीज़ल की कीमतों में काफी चढ़ाव हो रहा है। इन बढ़ती कीमतों की वजह से आम आदमी की जेब पर मोटा असर पद रहा है। यह तो आपको पता ही होगा कि पैट्रॉल और डीज़ल जैसे पदार्थो से हमारे पर्यावरण पर कितना बुरा असर पड़ता है।

अगर हमे इस पर्यावरण को बचाना है तो हमे इसका उपयोग काम करना होगा जो कि लोग धीरे धीरे कर भी रहे है। लोग आज कल साइकिल और इलेक्ट्रॉनिक बाइक का इस्तेमाल करना शुरू कर रहे है। कई विदेशी कम्पनिया इलेक्ट्रॉनिक बाइक का उत्पादन तेज़ी से कर रही है जिससे कि पर्यावरण को बचाया जा सके।

यह बाइक बिजली पर चलती है लेकिन इनकी कीमते ज्यादा होने के कारण इन्हे हर कोई नहीं ले सकता। ऐसे ही हमारे देश के एक निवासी ने कारनामा कर दिखाया है। विवेक पगेना वड़ोदरा का रहने वाला है और वह हर महीने ई-बाइक बनाकर एक लाख रूपए कमा रहा है। विवेक ने इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग कि पढ़ाई करी हुई है और वह वडोदरा इ गोत्री रोड पर रहते है, उनकी उम्र सिर्फ 25 वर्ष है।

विवेक ने साल 2017 में अपने कॉलेज के आखिरी साल के प्रोजेक्ट में एक इलेक्ट्रॉनिक बाइक डिज़ाइन करी थी। उस समय विवेक के उस प्रोजेक्ट को काफी लोगो ने सहारा और उन्हें इस प्रोजेक्ट पर आगे काम करने के लिए उत्तेजित भी किया था। उसके बाद विवेक अपना प्रोजेक्ट लेकर सयाजी स्टार्टअप के पास चले गए और वह उनके इलेक्ट्रिक बाइक के प्रोजेक्ट का सफर शुरू हो गया।

विवेक ने बताया कि एक बार उनके छोटे भाई ने स्कूल के लिए स्कूटर की ज़िद करी तो विवेक ने घर में पड़ी एक पुरानी साइकिल को इलेक्ट्रॉनिक साइकिल में बदल के उसे दिया था। इसके बाद उन्हें दुबई की एक साइकिल बनाने वाली कंपनी ने जॉब ऑफर किया और तब वह उस कंपनी के लिए साइकिल बनाने लगे। उस समय विवेक ने अपने देश भारत के लिए ई-बाइक बनाने के काम के बारे में सोचा। विवेक अब भारत में ऑफलाइन और ऑनलाइन अपनी इ-साइकिल की मार्केटिंग कर रहे है और लोग उनके इस काम को काफी पसंद भी कर रहे है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *